सीएम खट्टर के रोहतक आगमन पर किसानों ने काटा बवाल, दो बार बदली हेलीकॉफ्टर लैंडिंग की जगह

शुकवार को हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को किसानों के विरोध के कारण आठ किलोमीटर की दूरी सफ़र करने के लिए भी हेलीकॉप्टर का सहारा लेना पड़ा।

rohtak, farmer protest, farm lawsरोहतक में मुख्यमंत्री खट्टर के कार्यक्रम का विरोध करने के कारण पुलिस ने किसानों के ऊपर लाठीचार्ज किया जिसमें कई लोगों को गंभीर चोटें भी आई।(फोटो – ट्विटर /bishnoikuldeep )

देशभर में किसान आंदोलन का सबसे ज्यादा प्रभाव पंजाब और हरियाणा में है। कृषि कानूनों के विरोध के चलते भाजपा और उनके गठबंधन के नेताओं को लोगों के गुस्से का भयंकर सामना करना पड़ रहा है। शुक्रवार को हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला किसानों के विरोध के कारण अपने तयशुदा कार्यक्रम में भी नहीं शामिल हो पाए थे। वहीं आज शनिवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को भी किसानों का विरोध झेलना पड़ा। किसानों के विरोध के चलते सीएम खट्टर के हैलीपेड को दो बार बदलना पड़ा।

शनिवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भाजपा सांसद अरविंद शर्मा के पिता की 17वीं में शामिल होने रोहतक पहुंचे थे। मुख्यमंत्री के रोहतक आगमन की सूचना मिलते ही किसानों ने विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। सुबह से ही किसान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के लिए बनाए गए हैलीपेड के आसपास जमे थे। जैसे ही किसानों को मुख्यमंत्री के आने की सूचना मिली तो किसानों ने हैलीपेड की तरफ बढ़ना शुरू कर दिया। 

इस दौरान पुलिस और किसानों के बीच हिंसक झड़प हुई। पुलिस ने किसानों को तितर बितर करने के लिए लाठीचार्ज भी किया लेकिन इसके बावजूद भी किसान हैलीपेड के पास पहुंच गए। किसानों के ऊपर किए गए लाठीचार्ज में कई लोगों को चोटें भी आई। इस झड़प में कुछ पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। हिंसक माहौल को देखते हुए क्षेत्र के आईजी संदीप खिरवार भी मौके पर पहुंच गए।

जिसके बाद आनन फानन में मुख्यमंत्री के हेलीकॉफ्टर की लैंडिंग पुलिस लाइन में करवाई गई। जिसके बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भाजपा सांसद अरविंद शर्मा के पिता की शोक सभा में शामिल होने पहुंचे। रोहतक में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की सुरक्षा के पुलिस ने कड़े इंतजाम किए थे। पास के जिलों से भी पुलिस की कई कंपनियों को बुलाया गया था।

 

बता दें कि शुकवार को हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को किसानों के विरोध के कारण आठ किलोमीटर की दूरी सफ़र करने के लिए भी हेलीकॉफ्टर का सहारा लेना पड़ा। दुष्यंत चौटाला शुक्रवार को हिसार के चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय जाने के लिए हिसार एयरपोर्ट से हेलीकॉफ्टर में उड़ान भरनी पड़ी। हिसार एयरपोर्ट से विश्वविद्यालय तक की दूरी सिर्फ़ आठ किलोमीटर है। कृषि क़ानूनों के विरोध में किसानों ने बीजेपी-जेजेपी गठबंधन सरकार के नेताओं का सामाजिक बहिष्कार करने का ऐलान किया हुआ है।

Next Stories
1 ऐंकर ने EVM मामले में किया बीजेपी का बचाव तो बोले गौरव वल्लभ – बाइगॉड इतने संयोग तो हिंदी फिल्मों में भी नहीं होते
2 असम चुनाव: बीजेपी नेता पर चुनाव आयोग की रहम, 24 घंटे घटा दी हेमंत सरमा पर लगे बैन की मियाद
3 आनंद महिंद्रा ने पूरा किया इडली वाली अम्मा को दिया वादा, देंगे रेस्टोरेंट जैसा घर
यह पढ़ा क्या?
X