ताज़ा खबर
 

विजय माल्या का गारंटर बनने के आरोप में बैंक ने फ्रीज किए यूपी के किसान के सभी खाते

दिसंबर 2015 में मनमोहन को पता चला कि मुंबई की ब्रांच के कहने पर उसके दोनों अकाउंट्स को सीज कर दिया गया है।

विजय माल्या पर विभिन्न भारतीय बैंकों का 9000 करोड़ रुपये कर्ज है (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश का एक किसान विजय माल्या के कारण मुसीबत में फंस गया है। बैंक ने शराब कारोबारी माल्या का गारंटर बनने के आरोप में किसान के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है। यह घटना बिल्संदा थानाक्षेत्र के खजुरिया नवीराम गांव की है। किसान मनमोहन सिंह को बैंक ऑफ बडौदा की नांद शाखा ने दो दिन पहले सूचित किया कि माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस के लिए करोडों रूपये का कर्ज लेने में गारंटर के रूप में पेश होने के कारण उसके दो खाते सीज किये जा रहे हैं।

Read Also: विजय माल्‍या के विला में घुसे एसबीआई के 44 बाउंसर, स्‍टाफ को निकाल बाहर किया

बैंक के मुंबई स्थित क्षेत्रीय कार्यालय के निर्देश पर मैनेजर मांगे लाल ने सिंह के खाते फ्रीज कर दिये। बता दें कि सिंह के एक खाते में 12 हजार तो दूसरे में चार हजार रूपये हैं। वहीं सिंह का कहना है कि वह माल्या या किंगफिशर कंपनी के बारे में कुछ नहीं जानता। सिंह ने कहा, “माल्या और किंगफिशर को छोडिये, मैं तो कभी मुंबई या लखनऊ तक नहीं गया।”

Read Also: केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को बताया- 2 मार्च को माल्या ने देश छोड़ा, विदेशों में है कर्ज से ज़्यादा संपत्ति

किसान मनमोहन ने बताया कि उसने 2 साल पहले चार लाख रूपये का कर्ज लिया था। जिसके लिए उसने जमीन के कागजात बैंक को दिए थे। सिंह ने आशंका जताई कि उसके साथ कोई धोखाधडी की गई है, क्योंकि उसकी जमीन के कागजात बैंक के पास हैं।

Read Also: जाली दस्‍तखत के कारण खारिज हुआ विजय माल्‍या का इस्‍तीफा, आज राज्‍य सभा से हो सकता है निष्‍कासन

मैनेजर मांगे लाल ने बताया कि क्षेत्रीय कार्यालय से नया आदेश जारी हुआ है और सिंह के खाते चालू किये जा रहे हैं। गौरतलब है कि माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस पर 9400 करोड रूपये से ज्यादा का बैंक कर्ज का नहीं देने का आरोप है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App