ताज़ा खबर
 

एंकर से भिड़े राकेश टिकैत, कहा- 26 जनवरी का आंदोलन से संबंध नहीं, 40 लाख ट्रैक्टर आएंगे

टीवी चैनल पर एंकर रोमाना ईसार खान ने कहा आप हिंसा का रास्ता अपनाएंगे। धमकी देंगे। राकेश टिकैत ने कहा, "लुटेरी कंपनियां जाएंगी। इन्होंने पूरे देश को लूट लिया। एमएसपी पर कानून होता तो आज किसान आंदोलन नहीं करते।"

TV Debate, Farmer Movementनई दिल्ली की गाजीपुर सीमा पर आंदोलन के दौरान अपना हेल्थ चेकअप करवाते बीकेयू के प्रवक्ता राकेश टिकैत। (पीटीआई फोटो)

किसान आंदोलन को लेकर विवाद थमता नहीं दिख रहा है। टीवी चैनल पर किसान नेता राकेश टिकैत ने सरकार को चेतावनी दी कि “दिल्ली में 40 लाख ट्रैक्टर लाकर दिखाएगे। कहा कि देश से लुटेरी कंपनियां जाएंगी और एमएसपी पर कानून बनेगा। सरकार को तीन कृषि कानून वापस लेने पड़ेंगे।” उन्होंने कहा कि आंदोलन जारी रहेगा। देश में हल की क्रांति लाएंगे। कहा कि जब तक सरकार कानून वापस नहीं लेगी, हम अपने आंदोलन को खत्म नहीं करेंगे।

एबीपी न्यूज चैनल के संविधान की शपथ कार्यक्रम में एंकर रोमान ईसार खान ने किसान नेता राकेश टिकैत से पूछा कि आपकी नजर में लक्खा सिधाना क्या है, किसान है या गुनहगार है? इस पर राकेश टिकैत ने अनभिज्ञता जताते हुए कहा कि ये लक्खा कौन है, मैं नहीं जानता। एंकर ने बताया कि उस पर दिल्ली पुलिस ने ईनाम घोषित किया है। लाल किले पर हिंसा करने का आरोपी है। आपके आंदोलन में आपके साथ रहा है। आप कह रहे हैं कि आप नहीं जानते हैं।

इस पर राकेश टिकैत अपनी बात जोर-जोर से रखते हुए बोलने लगे। कहा, “एमएसपी पर बात करो न, 26 जनवरी से इसका क्या संबंध है? एमएसपी पर कानून क्यों नहीं? बिल का क्या होगा?”

एंकर ने कहा देश हिंसा की आग में जलती रहे और आप एमएसपी-एमएसपी चिल्लाते रहो। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा, “देश से लुटेरी कंपनियां जाएंगी। आलू का क्या रेट है। बर्बाद हो गया किसान, अरे क्या संबंध है 26 जनवरी से, लुटेरी कंपनियां जाएंगी। 26 तारीख का बिल से क्या संबंध है। सरकार को जवाब देना पड़ेगा, एमएसपी पर कानून बनाना पड़ेगा। 40 लाख ट्रैक्टर आएंगे। पूरे देश से किसान जुड़ेंगे। क्यों नहीं आएंगे 40 लाख ट्रैक्टर?”

एंकर ने कहा आप हिंसा का रास्ता अपनाएंगे। धमकी देंगे। राकेश टिकैत ने कहा, “लुटेरी कंपनियां जाएंगी। इन्होंने पूरे देश को लूट लिया। एमएसपी पर कानून होता तो आज किसान आंदोलन नहीं करते।”

एंकर ने पूछा कि किसान आंदोलन के नाम पर लक्खा सिधाना जैसे आरोपियों को क्यों संरक्षण दे रहे हैं? हिंसा का आरोपी लक्खा सिधाना पर एक लाख रुपए का ईनाम है और वह किसानों के मंच पर पहुंचता है। वह महापंचायत में आधे घंटे तक भाषण देता है और आप लोग उसकी शिकायत तक नहीं करवाते? उसको पकड़वाते तक नहीं हैं क्यों? आप लोग उसकी मेहमाननवाजी करते हैं क्यों? राकेश टिकैत ने कहा, “एमएसपी पर बात करो। दिल्ली में 40 लाख ट्रैक्टर जोड़ेंगे। पूरे देश में आंदोलन करेंगे। आंदोलन चलेगा। आंदोलन शांतिपूर्ण तरीके से चलेगा।” एंकर रोमान ईसार खान ने कहा, आपके पास कोई जवाब नहीं है। इसलिए आप एमएसपी-एमएसपी चिल्ला रहे हैं।

Next Stories
1 24 घंटे में हटानी होगी आपत्तिजनक पोस्ट, तीन महीने में लागू होंगे सोशल मीडिया के नियम, सरकार ने बताई सीमाएं
2 बहुत काम की है LIC की बीमा श्री पॉलिसी, रिटर्न के साथ और भी कई फायदे
3 Kerala Lottery Karunya Plus KN-357 Today Results: जारी हुए नतीजे, PP 572677 की लगी 80 लाख की लॉटरी
आज का राशिफल
X