ताज़ा खबर
 

किसान आंदोलन: हरियाणा में पुलिस ने चलाए आंसू गैस के गोले, दिल्ली में आज बात करेगी सरकार

हरियाणा पुलिस ने राजस्थान से आ रहे किसानों के एक समूह पर आंसू गैस के गोले दागे। ये समूह राजधानी दिल्ली की ओर जा रहा था। यह घटना गुड़गांव से लगभग 16 किमी दूर, एनएच -48 पर, रेवाड़ी जिले के संगवारी गाँव के पास, शाम 4 बजे के करीब हुई।

Author Translated By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: January 4, 2021 12:41 PM
Farmers protest, farmers govt talks today, Haryana farmers, Farm laws, farmer police clash,Sampat Singh, former home minister, Deepender Singh Hooda, Farm bills, farm laws, farmers protest,Birender Singh, jansattaहरियाणा पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले चलाये हैं। (Reuters)

केंद्र सरकार के कृषि क़ानूनों के खिलाफ किसान दिल्ली से सटी सीमाओं पर पिछले एक महीने से भी ज्यादा समय से आंदोलन कर रहे हैं। किसान नेता और केंद्र सरकार के बीच कई दौर की हो चुकी है लेकिन अबतक कोई समाधान नहीं निकला है। इसी बीच सोमवार को प्रदर्शनकारी किसान यूनियनों और केंद्र के बीच अगले दौर की बातचीत से एक शाम पहले हरियाणा पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले चलाये हैं।

हरियाणा पुलिस ने राजस्थान से आ रहे किसानों के एक समूह पर आंसू गैस के गोले दागे। ये समूह राजधानी दिल्ली की ओर जा रहा था। यह घटना गुड़गांव से लगभग 16 किमी दूर, एनएच -48 पर, रेवाड़ी जिले के संगवारी गाँव के पास, शाम 4 बजे के करीब हुई। आंसू गैस के गोले दागे जाने की पुष्टि करते हुए, बावल पुलिस अधीक्षक, राजेश कुमार ने कहा “प्रदर्शनकारियों ने कहा कि जो लोग आगे चले गए हैं, उनके पास पर्याप्त प्रावधान नहीं है, इसीलिए उन्हें उनके पास जाने दिया जाये ताकि वे वहां लंगर स्थापित कर सके। पुलिस ने उन्हें ऐसा करने की अनुमति दे दी। लेकिन जब वे वहां पहुंचे, तो उन्होने बैरिकेड्स तोड़कर आगे बढ़ने की कोशिश की।”

गुरुवार को 300 से अधिक किसानों ने राजस्थान-हरियाणा सीमा पर बैरिकेड्स तोड़कर रेवाड़ी में प्रवेश किया था। रविवार को राजस्थान के हनुमानगढ़ और श्री गंगानगर के लगभग 50 और किसानों ने ऐसा करने की कोशिश की, जिसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे।

दिल्ली की सीमाओं पर विरोध कर रहे किसान संघों की एक बॉडी और जय किसान आंदोलन की नूंह इकाई के प्रमुख रमजान चौधरी ने बताया कि आज रेवाड़ी में लगभग 15-20 ट्रैक्टर घुस गए… उनकी पुलिस के साथ झड़प हुई है। अधिकांश प्रदर्शनकारी सीमा पर बने हुए हैं। संयुक्ता किसान यूनियन के निर्देशों का पालन करने वाले हम अभी भी सीमा पर हैं।

चौधरी ने कहा कि सरकार से कल फिर बातचीत होगी, इस बैठक के बाद ही आगे की कार्रवाई के बारे में कुछ पता चलेगा। यदि वे हमारी मांगों को पूरा नहीं करते हैं, तो हम 6 जनवरी के बाद दिल्ली की ओर बढ़ेंगे।

Next Stories
1 कृषि क़ानूनों का बीजेपी में विरोध? पार्टी का आग्रह ठुकरा कर एक नेता ने की किसान आंदोलन की तारीफ, दूसरे ने की क़ानून रद करने की मांग
2 संपादकीय: पाक का धर्म
3 संपादकीय: राहत और भरोसा
ये पढ़ा क्या?
X