ताज़ा खबर
 

दिल्ली में किसान आ चुका है, आपको बगैर गिराए न जाएगा- बोले लेफ्ट नेता, BJP प्रवक्ता ने दिया ये जवाब

केंद्र के लाए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन पर CPI-M नेता सुनीत चोपड़ा ने BJP के सुधांशु त्रिवेदी को एक टीवी डिबेट के दौरान चेताया। कहा कि दिल्ली में किसान आ चुका है, आपको बगैर गिराए न जाएगा। हालांकि, इस पर बीजेपी प्रवक्ता ने भी बराबर पलटवार किया। कहा कि जब कम्युनिस्ट […]

Author Edited By अभिषेक गुप्ता नई दिल्ली | Updated: November 30, 2020 11:41 AM
Farm Bill Protest, Farm Bill, Farmers Protestकेंद्र द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन को 20 दिन हो चुके हैं। ‘दिल्ली चलो’ नारे के तहत सिंघु बॉर्डर पर हल्ला बोलते हुए किसान। (फोटोः PTI)

केंद्र के लाए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन पर CPI-M नेता सुनीत चोपड़ा ने BJP के सुधांशु त्रिवेदी को एक टीवी डिबेट के दौरान चेताया। कहा कि दिल्ली में किसान आ चुका है, आपको बगैर गिराए न जाएगा। हालांकि, इस पर बीजेपी प्रवक्ता ने भी बराबर पलटवार किया। कहा कि जब कम्युनिस्ट पार्टी आकर प्रवचन देती है तब मुझे एक कवाहत याद आती है कि आग लगे हमरी झोपड़िया में, हम गाएं मल्हार। ये उसी में खुश हैं।

दरअसल, यह मामला हिंदी न्यूज चैनल आज तक के डिबेट शो ‘हल्ला बोल’ से जुड़ा है। बंगाल चुनाव के मसले पर 28 नवंबर को चर्चा हो रही थी, जिसमें एंकर चित्रा त्रिपाठी के साथ कुछ और मेहमान भी थे। चोपड़ा इसी दौरान बीजेपी के त्रिवेदी को लेकर बोले- इनकी पार्टी टुकड़े-टुकड़े गैंग हैं। मैं किसानों के दोनों कैंप देखकर आया हूं। उधर न सिख हैं, न मुसलमान हैं, न हिंदू हैं और न इसाई हैं। वे कह रहे हैं- इस सरकार ने बैंक और देश लूट लिए। अब ये सरकार किसान की जमीन लूटने जा रहे हैं। वे दिल्ली से नहीं हटेंगे, जब काले कानून वापस नहीं लिए जाएंगे। बंगाल क्या जा रहे हो, दिल्ली संभाल लो…केजरीवाल ने बाहर कर दिया शहर से।

बकौल चोपड़ा, “इन लोगों ने कर्जा देने का अलावा और कुछ नहीं किया। नौकरी है नहीं, इसलिए एक नौजवान तेजस्वी ने मोदी को हरा दिया। अब हैदराबाद में हार कर आ जाएंगे।” इसी बीच, सीपीआईएम नेता ने कहा- आप समझ लो, दिल्ली में किसान आ चुका है। वो आपके गिराए बगैर नहीं जाएगा।

इसी पर आगे जब त्रिवेदी ने टोका और कहा- इनके राग-मलहार की हकीकत देखिए, ये किसानों की बात कर रहे हैं…। अगर भारत के इतिहास में एक मात्र घटना है, जब पुलिस ने नहीं पार्टी के गुंडों ने बंदूकें ले किसानों को जमीन से बेदखल किया। देखें, आगे क्या हुआः

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ट्वीट कर कहा, “नए कृषि कानून APMC मंडियों को समाप्त नहीं करते हैं। मंडियां पहले की तरह ही चलती रहेंगी। नए कानून ने किसानों को अपनी फसल कहीं भी बेचने की आज़ादी दी है। जो भी किसानों को सबसे अच्छा दाम देगा वो फसल खरीद पायेगा चाहे वो मंडी में हो या मंडी के बाहर।”

उन्होंने इस ट्वीट के साथ यह फोटो भी शेयर कियाः

Farm Bill Protest, Farm Bill, Farmers Protest

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Coronavirus Vaccine क्या मुफ्त में मिल सकती है? समझें
2 चुनाव में कोरोना संक्रमित हुईं बीजेपी विधायक की मौत, पीएम मोदी ने जताया शोक, ओम बिरला ने बताया निजी क्षति
3 COVISHIELD ट्रायल के बाद शख्स का दावा- हुआ बीमार, कंपनी दे 5 करोड़ का मुआवजा; SII ने ठोका 100 करोड़ का मानहानि केस
ये पढ़ा क्या?
X