ताज़ा खबर
 

‘अन्नदाता फिर फुटबॉल बन गया है’, शो में बोले किसान नेता- वादा किया था, पर गारंटी क्यों नहीं देते…हम कैसे PM पर कर लें यकीन?

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए वीएम सिंह ने कहा कि यदि कांग्रेस ने स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू कर दी होती तो आज बीजेपी सरकार में होती ही नहीं।"

PM Narendra Modi farm act farmers protest viral video mspकिसान नेता ने सवाल उठाते हुए कहा कि हम कैसे पीएम पर यकीन कर लें? (PTI Photo)

नए कृषि कानून का किसानों द्वारा विरोध किया जा रहा है। विपक्षी पार्टियां भी इस मुद्दे पर सरकार के खिलाफ लामबंद हो गई हैं। जिसके चलते इस मुद्दे पर टीवी चैनल्स पर डिबेट कार्यक्रम भी किए जा रहे हैं। ऐसे ही एक कार्यक्रम में पहुंचे किसान नेता वीएम सिंह ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि यहां फिर किसान भाजपा और कांग्रेस के बीच फुटबॉल बन गया है। वीएम सिंह ने सरकार के वादों पर भी सवाल खड़े किए और कहा कि वह प्रधानमंत्री की बात पर कैसे यकीन कर लें?

बता दें कि न्यूज 18 इंडिया टीवी चैनल पर प्रसारित हुए एक कार्यक्रम के दौरान किसान नेता वीएम सिंह ने कहा कि “कृषि कानून के खिलाफ ‘अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति’ ने आवाज उठायी थी लेकिन पिछले 20 मिनट से वह बस सुन रहे हैं और यहां किसान फिर से कांग्रेस और भाजपा के बीच फुटबॉल बन गया है। इसके बाद कांग्रेस पर निशाना साधते हुए वीएम सिंह ने कहा कि यदि कांग्रेस ने स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू कर दी होती तो आज बीजेपी सरकार में होती ही नहीं।”

इसके बाद भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए किसान नेता ने कहा कि “साल 2014 में प्रधानमंत्री ने कहा था कि वह एमएसपी के लिए C2+50 लागू करेंगे लेकिन अगले ही साल उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दे दिया कि इसे लागू नहीं कर सकते। इसके बाद अरुण जेटली ने कहा कि लागू कर रहे हैं लेकिन लागू किया A2+FL और भाजपा नेता कह रहे हैं कि प्रधानमंत्री पर विश्वास करें!”

वीएम सिंह ने कहा कि “वह इस मुद्दे पर डिबेट के लिए तैयार हैं। कांग्रेस, बीजेपी मत करो और मंत्रियों की किसान नेताओं से डिबेट कर लो। यूपी सरकार के वादों की आलोचना करते हुए वीएम सिंह ने कहा कि चुनाव में उन्होंने कहा था कि 14 दिन में गन्ने का रेट मिलेगा, नहीं मिला। 14 दिन से देरी होने पर ब्याज मिलेगा, वो भी नहीं मिला।”

“किसानों का कर्ज माफ करने की बात कही लेकिन कर्ज माफ नहीं हुआ। वीएम सिंह ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को भी असफल करार दिया और सवाल उठाया कि ऐसे में कैसे प्रधानमंत्री पर विश्वास कर लें?”

वीएम सिंह ने कहा कि “एपीएमसी हमारा मुद्दा नहीं है। हमारा मुद्दा ये है कि आपने वादा किया था कि सी2 देंगे तो वो दीजिए। आपने एमएसपी से कम ना खरीदने की गारंटी देने की बात कही थी तो उसकी गारंटी दीजिए।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सोनिया का नारा लगवाना बदतमीजी- बोले पैनलिस्ट, तो भड़के कांग्रेसी- संघी गुलाम, तिरंगा फहराने की औकात नहीं, भाषण दे रहे हो?
2 MP By Elections: 28 सीटों पर 3 नवंबर को मतदान, बिहार के साथ ही 10 नवंबर को परिणाम- EC का ऐलान
3 LAC विवाद: बोले IAF चीफ- पूर्वी लद्दाख में सुरक्षा परिदृश्य असहज, ‘न युद्ध न शांति’ के हैं हालात
यह पढ़ा क्या?
X