ताज़ा खबर
 

GDP पर बयान की वजह से ट्रोल हुए BJP सांसद तो सोशल मीडिया पर पाबंदी की उठाई मांग, जानें क्या बोले निशिकांत दुबे

संसद में जीडीपी के संदर्भ में रिपोर्टिंग पर नाराजगी जताते हुए, भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने केंद्र सरकार से अपील की कि वह सोशल मीडिया के खिलाफ एक कानून लाए।

Author नई दिल्ली | Updated: December 4, 2019 8:19 AM
भाजपा सांसद निशिकांत दुबे (Screenshot/Lok Sabha TV)

लोकसभा में भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने सोमवार को उनके द्वारा जीडीपी के बारे में दिये गए बयान को लेकर सोशल मीडिया पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल किए जाने का मुद्दा उठाया। बीजेपी सांसद ने सोशल मीडिया पर ऐसी गतिविधियों पर रोक लगाने के लिये कानून बनाने की मांग की । शून्यकाल में इस विषय को उठाते हुए दूबे ने कहा, ‘‘सोमवार को मैंने एक विशेषज्ञ को उद्धृत करते हुए जीडीपी के संबंध में कुछ बातें कही थीं। जिसको जीडीपी मानना है, जीडीपी माने, जिसको हैप्पीनेस इंडेक्स मानना है, वह हैप्पीनेस इंडेक्स माने। जिसको गांव, गरीब को मानना है, वह गांव गरीब को माने और जिसको अमेरिका को मानना है, वह अमेरिका को माने।’’

उन्होंने कहा कि उन्होंने सभी बातें तर्क के साथ रखी थीं, लेकिन मीडिया, खासकर सोशल मीडिया पर उनकी बात के संदर्भ में उनके परिवार के प्रति अभद्र शब्दों का इस्तेमाल किया गया। दुबे ने कहा कि उनका सरकार से आग्रह है कि सदन में बोलने के संदर्भ में इस प्रकार की जो घटनाएं होती है, ऐसे में सोशल मीडिया पर ऐसी गतिविधि पर रोक लगाने के लिये कानून बने।

बलिया से भाजपा सांसद वीरेन्द्र सिंह ने दुबे का समर्थन करते हुए कहा कि वह गांव से हैं, किसान है। जीडीपी को नहीं मानते हैं । उन्होंने कहा कि जीडीपी हमारे गांव, किसान का पैमाना तय नहीं कर सकती। भाजपा की जसकौर मीणा ने पिछड़े वर्गो के संबंध में क्रीमी लेयर का मुद्दा उठाया और उनके हितों की सुरक्षा करने की मांग की। वहीं, भाजपा के अजय निषाद ने नीलगाय, जंगली सुअर एवं अन्य जानवरों द्वारा फसलों को नुकसान किए जाने का मुद्दा उठाया और सरकार से किसानों के हित में फसलों को सुरक्षित बनाने के लिए कदम उठाने की मांग की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 जब पत्रकारों से बोलीं जया बच्चन- इतना गुस्सा है कि आपको पकड़ कर न मार दूं
2 PNB SCAM: नीरव मोदी को बैंक ने फर्जीवाड़े से जारी किए थे 25000 करोड़ रुपये के एलओयू! ऑडिट रिपोर्ट में सनसनीखेज खुलासे
3 GST: घटती टैक्स वसूली से मोदी सरकार परेशान, रेवेन्यू में नुकसान पर राज्यों को मुआवजा देने पर भी खड़े किए हाथ!
जस्‍ट नाउ
X