ताज़ा खबर
 

फेसबुक ने किया साफ- यूजर्स से आधार नंबर लेने की नहीं है कोई योजना

फेसबुक ने स्पष्ट किया है कि इसके तहत उपयोक्ताओं को एक अतिरिक्त संदेश यह दिया जाता है कि कि अगर वे अपने आधार वाले नाम का इस्तेमाल करेंगे तो उनके परिवारजनों व मित्रों को उन्हें पहचानने में मदद होगी।

Author नई दिल्ली | Updated: December 29, 2017 3:24 PM
प्रतीकात्म तस्वीर।

सोशल मीडिया नेटवर्क फेसबुक ने गुरुवार को स्पष्ट किया कि उसकी अपने उपयोक्ताओं की आधार संख्या मांगने की कोई योजना नहीं है और न ही वह अपने इस मंच पर एकाउंट को आधार से जोड़ रही है। कंपनी ने यह स्पष्टीकरण उन मीडिया रपटों के जवाब में दिया है जिनसे ऐसा संकेत मिल रहा है कि फेसबुक एक परीक्षण कर रही है जिसमें उसने उपयोक्ताओं से फेसबुक खाते में लॉगिन करते समय उनके आधार की जानकारी मांगी है।

फेसबुक ने स्पष्ट किया है कि यह प्रयोग अब पूरा हो चुका है। इसके तहत उपयोक्ताओं को एक अतिरिक्त संदेश यह दिया जाता है कि कि अगर वे अपने आधार वाले नाम का इस्तेमाल करेंगे तो उनके परिवारजनों व मित्रों को उन्हें पहचानने में मदद होगी। कंपनी ने एक ब्लॉग पोस्ट में लिखा है, ‘हम आधार की जानकारी नहीं ले रहे हैं और न ही लोगों को फेसबुक पर साइनअप करते समय आधार नाम दर्ज करने की जरूरत होगी।’

कंपनी के अनुसार इस कतिपय परीक्षण का उद्देश्य उपयोक्ताओं को यह समझाना था कि वे वास्तविक नाम के साथ एकाउंट बनाएं। फेसबुक के इस कदम को इस मंच पर फर्जी खातों की बढ़ती संख्या पर लगाम लगाने के उसके प्रयासों के रूप में देखा जा रहा है। फेसबुक ने हालांकि इस बारे में टिप्पणी नहीं की है। भारत में 24 करोड़ से अधिक लोग फेसबुक का उपयोग करते हैं। वहीं देश में 119 करोड़ लोगों को आधार संख्या जारी की जा चुकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 तीन तलाक: मौलाना की मांग- जेल हटाओ, महिला को दो 30,000 मुआवजा, एंकर बोले- मौज आप करें, पैसा सरकार भरे
2 संसद में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पर बरसे एमजे अकबर, पूछा- आपको किसने बनाया मुसलमानों का अगुआ?
3 लोकसभा में पास हुआ तीन तलाक बिल, ओवैसी के सुझाए संशोधन खारिज
जस्‍ट नाउ
X