ताज़ा खबर
 

बिल्‍कुल ठीक हैं दलाई लामा, प्रवक्‍ता ने कहा- फर्जी है प्रोस्टेट कैंसर होने की खबर

दावा किया गया है कि सार्वजनिक उपस्थिति में तिब्बत धर्मगुरु को सहायकों के साथ चलते हुए देखा गया था, चूंकि वह खुद से चलने में पूरी तरह सक्षम नहीं है।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फोटो सोर्स आईएएनएस)

तिब्बत के 14वें धर्मगुरु दलाई लामा की सेहत बिल्‍कुल ठीक है। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि धर्मगुरु को प्रोस्‍टेट कैंसर की समस्‍या हो गई है। नेशनल हेराल्ड न्यूज वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक 82 वर्षीय धर्मगुरु को इलाज के लिए अमेरिका ले जाया गया है। भरोसेमंद सूत्रों के हवाले से पता चला है कि भारत सरकार को उनकी बीमारी के बारे में एक साल से भी अधिक समय से जानकारी थी। हालांकि चाईनीज नेतृत्व को कुछ महीने पहले ही दलाई लामा की बिगड़ी हालत को लेकर जानकारी मिली। सूत्रों ने यह भी बताया है कि तिब्बत धर्मगुरु आम लोगों से मुलाकात के बाद हाथ साफ रखने के लिए सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर रहे थे।

दलाई लामा ने पिछले दिनों अपने वस्त्रों में बढ़ोतरी की है। बताया जाता है कि उन्होंने अधिक वस्त्र इसलिए पहनने शुरू किए ताकि एक विशेष बैग को छिपाया जा सके। मेडिकल बोलचाल में इस बैग को ‘कोलोस्टोमी बैग’ के रूप में जाना जाता है। वेबसाइट ने अज्ञात सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी है। यह भी दावा किया गया है कि सार्वजनिक उपस्थिति में तिब्बत धर्मगुरु को सहायकों के साथ चलते हुए देखा गया था, चूंकि वह खुद से चलने में पूरी तरह सक्षम नहीं है। प्रोस्टेट कैंसर में मरीज को बार-बार झुकने की मनाही होती है। रिपोर्ट में हाल के दिनों में धर्मशाला की सेंट्रल तिब्बत प्रशासन (सीटीए) की ओर जारी रिपोर्ट की तरफ भी ध्यान दिलाया गया है। मार्च में जारी इस रिपोर्ट में कहा गया था कि दलाई लामा का स्वास्थ्य बहुत खराब है।

हालांकि सीटीए ने अब इस तथ्य को खारिज किया है और कहा है कि वह पूरी तरह स्वस्थ्य हैं। वह विदेश जाने की तैयारी कर रहे हैं। सीटीए एक प्रवक्ता ने बताया की धर्मगुरु का स्वास्थ्य ठीक है और वह लुधियाना और लाविता की यात्रा करने वाले हैं। हालांकि क्विंट ने अपने रिपोर्ट में दावा किया कि भारत तिब्बत धर्म के खराब स्वास्थ्य की जानकारी छिपाने की कोशिश कर रहा है। जबकि धर्मगुरु बार-बार अमेरिका के मायो क्लिनिक की यात्रा कर रहे हैं जो कि कैंसर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App