ताज़ा खबर
 

बिहार: सगे भाइयों को अगवा करके तेजाब से जलाकर मारने के केस में पूर्व राजद सांसद शहाबुद्दीन दोषी

अदालत ने सजा सुनाए जाने की तारीख 11 दिसंबर निर्धारित की है। हत्या सहित अन्य आपराधिक मामलों में शहाबुद्दीन पिछले कई सालों से सीवान के केंद्रीय कारागार में बंद है।

Author सीवान | December 9, 2015 19:47 pm
राजद के पूर्व सांसद मोहम्‍मद शहाबुद्दीन (FILE PHOTO)

बिहार के सीवान जिले की एक विशेष अदालत ने 11 साल पहले हुई दो भाइयों की हत्या के मामले में बुधवार को राजद के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन और तीन अन्य को दोषी करार दिया। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायधीश अजय कुमार श्रीवास्तव ने 16 अगस्त 2004 को दो सगे भाइयों गिरीश और सतीश का अपहरण कर उनकी हत्या करने के मामले में शहाबुद्दीन, राजकुमार साह, शेख असलम और आरिफ हुसैन को आईपीसी की धारा 302, 364 ए, 201 तथा 120 बी के तहत दोषी दिया। अदालत ने सजा सुनाए जाने की तारीख 11 दिसंबर निर्धारित की है। हत्या सहित अन्य आपराधिक मामलों में शहाबुद्दीन पिछले कई सालों से सीवान के केंद्रीय कारागार में बंद है।

16 अगस्त 2004 को सीवन शहर के गौशाला रोड निवासी चंद्रशेखर प्रसाद के तीन बेटों को राजकुमार साह, शेख असलम और आरिफ हुसैन ने अगवा किया और हुसैनगंज थाना अंतर्गत प्रतापपुर गांव ले गए। तीनों में से दो गिरीश और सतीश के शरीर पर तेजाब उड़ेल दिए जाने से उनकी मौत हो गयी जबकि तीसरा राजीव रोशन फरार होने में सफल रहा। गिरीश और सतीश के शव बरामद नहीं हो सके थे। इस मामले में मृतकों की मां कलावती ने शहाबुद्दीन और उनके साथियों के खिलाफ थाने में केस दर्ज कराया था। इस घटना के एक मात्र चश्मदीद गवाह राजीव रोशन ने अदालत के समक्ष पेश होकर इस मामले में गवाही दी थी लेकिन फिर राजीव की बीते साल 16 जून को अज्ञात हमलावरों द्वारा हत्या कर दी गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App