ताज़ा खबर
 

‘भटक गई हमारी पार्टी’, परिवर्तन रैली में बोले पूर्व कांग्रेसी सीएम हुड्डा, 370 हटाने का भी किया समर्थन

हुड्डा ने हरियाणा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कश्मीर में हरियाणा के हमारे भाई भी तैनात है इसलिए हम अनुच्छेद 370 हटाए जाने का समर्थन करते हैं लेकिन इन पांच सालों में जो हरियाणा सरकार ने किया है उसे उसका जवाब देना होगा।

हरियाणा के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने पार्टी लीक से हटकार बागी बयान दिया है। (फोटो- ANI)

हरियाणा के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने पार्टी लीक से हटकार बागी बयान दिया है। उनका कहना है कि उनकी पार्टी ( कांग्रेस) रास्ते से भटक गई है। रोहतक में परिवर्तन रैली के दौरान उन्होंने कहा कि आर्टिकल 370 हटाए जाने का समर्थन करते हुए कहा कि जब सरकार कोई सही काम कर रही है तो सरकार का समर्थन करना चाहिए। मेरे कई साथियों ने आर्टिकल 370 हटाए जाने का विरोध किया। हमारी पार्टी रास्ता भटक गई , यह वही कांग्रेस नहीं है जो पहले हुआ करती थी। देशभक्ति और आत्मसम्मान की बात जहां आएगी मैं पीछे नहीं हटूंगा।

हुड्डा ने हरियाणा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कश्मीर में हरियाणा के हमारे भाई भी तैनात है इसलिए हम अनुच्छेद 370 हटाए जाने का समर्थन करते हैं लेकिन इन पांच सालों में जो हरियाणा सरकार ने किया है उसे उसका जवाब देना होगा। हरियाणा सरकार (अनुच्छेद 370) के हटाए जाने के फैसले के पीछे नहीं छिप सकती।

इस दौरान हुड्डा ने एक शेर भी पढ़ा। हुड्डा ने कहा कि मैं एक देशभक्त परिवार में पैदा हुआ जो लोग आर्टिकल 370 के हटाए जाने का विरोध कर रहे हैं उनको मैं बताना चाहता हूं कि, ‘उसूलों पर जहां आंच आए, वहां टकराना जरूरी है, जो जिंदा है तो जिंदा दिखना जरूरी है।

बता दें कि चुनाव से पहले हुड्डा का पार्टी से अलग बागी तेवर में बोलना पार्टी में मतभेद का इशारा है। खबरों के मुताबिक हुड्डा चाहते हैं कि हरियाणा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस  उनके नेतृत्व में चुनाव लड़े लेकिन पार्टी की तरफ से ऐसा कोई बयान जारी नहीं किया गया है। वहीं हरियाणा कांग्रेस अधय्क्ष अशोक तंवर का कहना है कि लोकसभा चुनाव में हार हुए प्रत्याशियों को विधानसभा का टिकट नहीं दिया जाना चाहिए। गौर करने वाली बात यह भी है कि खुद को सीएम उम्मीदवार बताने  की कोशिश कर रहे  लेकिन वह और उनके बेटे दीपेंद्र  हुड्डा पिछले लोकसभा चुनाव में हार चुके हैं। ऐसे में उनके विधानसभा टिकट पर भी खतरे के बादल मंडरा रहे हैं।

गौरतलब है कि हरियाणा में इस साल के अंत तक विधानसभा चुनाव होने के आसार हैं। हरियाणा में विधानसभा की कुल 90 सीटें हैं। पिछले साल विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 47 सीटें जीतकर सरकार बनाई थी।

Next Stories
1 यूपी में अब जातियों के बीच ऐसे बंट सकता है आरक्षण कोटा, योगी सरकार ने बनाया ये प्लान
2 अयोध्या: अस्थाई राम मंदिर के पुजारी और कर्मचारियों को ज्यादा भत्ते देगी योगी सरकार, नाराज थे आचार्य सत्येंद्र दास
3 भारत से पंगा पड़ा भारी, पाकिस्तान में जीवनरक्षक दवाओं और जरूरी चीजों की कमी का संकट!
ये पढ़ा क्या?
X