ताज़ा खबर
 

‘हर शिव सैनिक की चाहत, अपना हो सीएम’, मिशन पर निकले आदित्य ठाकरे, 6 चरण में AC बस से 4000 KM का सफर

आदित्य ठाकरे की यह यात्रा एसी बस में कुल छह चरणों में होगी, जिसके तहत वो राज्य भर में करीब चार हजार किलोमीटर की यात्रा करेंगे। इस दौरान वो राज्य के लगभग सभी तालुका में संवाद करेंगे।

Author नई दिल्ली | July 19, 2019 5:08 PM
शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और यूथ विंग के अध्यक्ष आदित्य ठाकरे के साथ प्रियंका चतुर्वेदी। (एक्सप्रेस फोटो)

शिव सेना के यूथ विंग के अध्यक्ष और पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे इन दिनों महाराष्ट्र में जन आशीर्वाद यात्रा पर हैं। यात्रा के दूसरे दिन शुक्रवार (19 जुलाई) को ठाकरे ने धुले में आदित्य संवाद किया, जिसमें उन्होंने युवाओं, महिलाओं, किसानों औक आमजनों को संबोधित किया। आदित्य की यह यात्रा विधान सभा चुनाव से पहले कुल छह चरणों में होनी है। पार्टी नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने जनसत्ता डॉट कॉम को बताया कि आदित्य ठाकरे छह चरणों में 4000 किलोमीटर की यात्रा करेंगे। पहले चरण में पांच दिन अलग-अलग शहरों में जन संवाद करेंगे। पहले दिन जलगांव, दूसरे दिन धुले उसके बाद क्रमश: नाशिक शहर, नासिक ग्रामीण, शिरडी और श्रीरामपुर जाएंगे।

बतौर प्रियंका चतुर्वेदी इस यात्रा का मकसद युवाओं से बातचीत करना है, लोगों के बीच एक विश्वास पैदा करना है। ताकि शिव सेना और मजबूत हो सके। जब उनसे पूछा गया कि क्या शिव सेना आदित्य ठाकरे को अगला सीएम के रूप में प्रोजेक्ट कर रही है तो उन्होंने साफ तौर पर कहा कि शिवसेना एक राजनीतिक पार्टी है और अगर कोई राजनीतिक जिम्मेदारी जनता देना चाहती है तो इसमें बुराई क्या है? हालांकि, चतुर्वेदी ने कहा कि फिलहाल आदित्य ठाकरे आम जमनानस को धन्यवाद कहने निकले हैं।

जब उनसे पूछा गया कि क्या शिव सेना आदित्य ठाकरे के सीएम के तौर पर प्रोजेक्ट कर रही है या नहीं? तो उन्होंने कहा, “राजतिलक से पहले राजा की जिम्मेदारी होती है कि प्रजा की आवाज बनकर, उसकी आवाज बुलंद करके, उसका विश्वास जीतकर फिर जिम्मेदारी ले। बिल्कुल हर एक शिव सैनिक आज चाहेगा कि हमारे पार्टी का नेतृत्व आने वाले समय में महाराष्ट्र  की राजनीतिक जिम्मेदारी लेकर एक युवा चेहरा के रूप में उभर कर आएं।” चतुर्वेदी ने कहा कि हर शिव सैनिक चाहता है, जैसा कि बीजेपी के लोग भी चाहते हैं, कि उनका नेता सीएम बनें।

राज ठाकरे और उद्धव ठाकरे एक होंगे या नहीं? इस पर चतुर्वेदी ने साफ तौर पर इनकार किया लेकिन कहा कि इस पर पार्टी का शीर्ष नेतृत्व ही फैसला करेगा। 2019 के विधान सभा चुनाव में पार्टी की भूमिका पर उन्होंने साफ कहा कि बीजेपी और शिव सेना के बीच सीटों का बंटवारा बराबरी का होगा। शिव सेना नेता ने कहा कि फिलहाल आदित्य ठाकरे युवाओं, महिलाओं, किसानों, मजदूरों की समस्या जानने और उन्हें लोकसभा चुनाव में समर्थन देने के लिए आभार जताने के लिए राज्य के दौरे पर निकले हैं।

जन आशीर्वाद यात्रा के दूसरे दिन शुक्रवार (19 जुलाई) को आदित्य ठाकरे ने धुले में ‘आदित्य संवाद’ किया। (फोटो- ट्विटर)

बता दें कि आदित्य ठाकरे की यह यात्रा एसी बस में कुल छह चरणों में होगी, जिसके तहत वो राज्य भर में करीब चार हजार किलोमीटर की यात्रा करेंगे। इस दौरान वो राज्य के लगभग सभी तालुका में संवाद करेंगे। यात्रा की शुरुआत करने से पहले जूनियर ठाकरे ने छत्रपति शिवाजी की प्रतिमा पर फूल चढ़ाए। यात्रा के पहले दिन आदित्य ठाकरे ने लोगों से राज्य को भगवा झंडे से पाटने की अपील की। आदित्य ठाकरे ने कहा कि उनकी यह यात्रा एक तीर्थयात्रा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Aadhaar व PAN में नाम है अलग तो परेशान न हों, ऐसे कर सकते हैं प्रॉब्लम सॉल्व
2 लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने TMC सांसद से कहा- सदन में पश्चिम बंगाल की मार्केटिंग मत करिए
3 MP: बीजेपी MLA को बेल, बोले थे- सड़कों पर बहेगी खून की नदी और खून होगा CM कमलनाथ का