scorecardresearch

इतना तो पत्नी ने भी कभी नहीं डांटा, LG की चिट्ठियों पर तंज कस बोले केजरीवाल- थोड़ा Chill करो

केजरीवाल ने अपने ट्वीट में लिखा कि पिछले छह महीनों में एलजी साहिब ने मुझे जितने लव लेटर लिखे हैं, उतने पूरी ज़िंदगी में मेरी पत्नी ने मुझे नहीं लिखे।

इतना तो पत्नी ने भी कभी नहीं डांटा, LG की चिट्ठियों पर तंज कस बोले केजरीवाल- थोड़ा Chill करो
Delhi Politics: एलजी विनय सक्सेना और अरविंद केजरीवाल (Photo – ANI)

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और उप राज्यपाल के बीच रस्साकसी जोरदार तरीके से चल रही है। एलजी विनय कुमार सक्सेना आए दिन किसी न किसी बात पर केजरीवाल या फिर उनके मातहतों को चिट्ठी जारी करते रहते हैं। फिलहाल इसे लेकर सीएम ने उप राज्यपाल पर तीखा तंज कसा और नसीहत भी दी।

केजरीवाल ने अपने ट्वीट में लिखा कि एलजी साहिब रोज़ मुझे जितना डांटते हैं, उतना तो मेरी पत्नी भी मुझे नहीं डांटतीं। पिछले छह महीनों में एलजी साहिब ने मुझे जितने लव लेटर लिखे हैं, उतने पूरी ज़िंदगी में मेरी पत्नी ने मुझे नहीं लिखे। सीएम ने अपनी पोस्ट में लिखा कि एलजी साहब, थोड़ा chill करो। और अपने सुपर बॉस को भी बोलो। उनका इशारा पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह की तरफ था।

सोशल मीडिया पर लोगों ने अलग अलग तरह से केजरीवाल पर तंज कसे। एक का कहना था कि पत्नी को बोलो पति बदल लें, फिर लव लेटर भी लिखने शुरू हो जाएंगे। सुषमा चौहान ने लिखा कि आज महात्मा गाँधी मेरे सपने में आए थे उन्होंने मुझे बोला बेटा हिंसा करना पाप है लेकिन केजरीवाल कही मिले तो…।

एक ने लिखा कि प्रेम पत्रों की गजब परिभाषा दी सर। गृह मंत्रालय की डांट से प्यार की जीडीपी बढ़ेगी सर। एक ने लिखा कि तू भी तो पड़ा रहता है LG साहिब के घर के आगे सोफा डाल के। एक ने कहा कि पत्नी और LG साहब दोनों ठीक डांटते हैं! औकात में रहना सीखो। जीपी सिंह का कहना था कि ग़लती करते हैं LG साहब।डांटने के बजाय तुम्हारे थूथन को थूर देना चाहिए। औकात में रहोगे। एक का कहना था कि इसमें गलत क्या है।

एक यूजर का कहना था कि बच्चे अगर डांटने से बाज नही आते तो टीचर को डंडा उठाना चाहिए। दूसरे का कहना था कि एक सीएम को इस तरह की भाषा और ट्वीट से बचना चाहिए। अनुज अग्रवाल ने लिखा कि ये तो बहुत ही असंवैधानिक भाषा का उपयोग किया है केजरीवाल ने। आजकल राजनीति का स्तर कितना नीचे चला गया है। शीला दीक्षित के समय दिल्ली सरकार और LG के बीच इस तरह का कोई भाषा संवाद नहीं देखा जाता था। राजनीति अपने सबसे निचलतम स्तर तक आ चुकी है ।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 06-10-2022 at 06:26:18 pm
अपडेट