ताज़ा खबर
 

एम्स से भी सुषमा स्वराज लोगों की कर रही हैं मदद, जापान से पति का शव मंगवाने का महिला को दिया भरोसा

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के अनुरोध पर उन्हें जवाब देते हुए सुषमा ने कहा है, "हमलोग (सरकार) बिना किसी देरी के ऐसा करेंगे और उस पर आने वाले सभी खर्च वहन करेंगे।"

विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज। (Source: Express Photo by Praveen Khanna)

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भले ही एक महीने से अस्पताल में हों लेकिन वो लोगों को मदद करने में पीछे नहीं हैं। आज (रविवार को) उन्होंने एक महिला को मदद देने की पेशकश की जिनके पति की मौत जापान में हो गई। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के अनुरोध पर उन्हें जवाब देते हुए सुषमा ने कहा है, “हमलोग (सरकार) बिना किसी देरी के ऐसा करेंगे और उस पर आने वाले सभी खर्च वहन करेंगे।”

शनिवार को स्वाति मालीवाल ने सुषमा स्वराज को पत्र लिखकर जापान में मरे शख्स की लाश लाश स्वदेश मंगवाने का अनुरोध किया था। मालीवाल ने अपने पत्र में लिखा था, “पीड़ित और शोक संतप्त परिवार बहुत परेशान है और आपसे मदद की उम्मीद लगाए रखा है। मैं इस पत्र के साथ उनका आवेदन आपको भेज रही हूं।” मालीवाल ने अपने पत्र में उनके शीघ्र स्वस्थ होने की भी कामना की।

दरअसल, गोपाल नाम का शख्स पिछले साल सितंबर में एक होटल में रसोइए का काम करने टोक्यो गया था। इस साल 10 दिसंबर को उसके परिवार को एक फोन कॉल आया जिसमें गोपाल के साथ काम करने वाले दूसरे शख्स ने बताया कि हार्ट अटैक की वजह से गोपाल का देहांत हो गया है। इसके बाद उसकी विधवा ने दिल्ली महिला आयोग से संपर्क किया और अपने पति की लाश स्वदेश मंगाने का अनुरोध किया ताकि उसका अंतिम संस्कार किया जा सके। उसने बताया कि उसके परिवार की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं है कि वो लाश वहां से मंगवा सके।

गौरतलब है कि 11 दिसंबर को एम्स में किडनी ट्रांसप्लांट होने के बाद से सुषमा स्वराज एम्स में ही भर्ती हैं। अभी वो आईसीयू से बाहर आ चुकी हैं।

वीडियो देखिए- दोनों देशों में चल रहे तनाव के बीच पाकिस्तानी दुल्हन के इंतज़ार में भारतीय दुल्हा; सुषमा स्वराज ने की मदद

वीडियो देखिए- UNGA में सुषमा स्वराज ने कहा- “आतंकवाद मानवाधिकार का सबसे बड़ा उल्लंघन है”

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App