ताज़ा खबर
 

550 करोड़ नहीं चुकाने पर अनिल अंबानी को जेल भेजना चाहती है मोबाइल कंपनी, राहुल ने फिर प्रधानमंत्री को घेरा

अनिल अंबानी की कंपनी ने भी इस मामले में देश के संचार विभाग के खिलाफ सर्वोच्च अदालत में मुकदमा दायर किया है। जिसमें उन्होंने स्पेट्रम की नीलामी में हुई देरी की वजह से एरिक्सन और दूसरे देनदारों का पैसा नहीं चुका पाने की दलील दी है।

रिलायंस कम्युनिकेशंस के मालिक अनिल अंबानी की मुश्किलें बढ़ीं। (फोटो सोर्स: एक्सप्रेस आर्काइव)

टेलिकॉम प्रॉडक्ट बनाने वाली कंपनी ‘एरिक्सन’ ने सुप्रीम कोर्ट में रिलायंस कम्युनिकेशंस के चेयरमैन अनिल अंबानी को उसका बकाया नहीं चुकाए जाने तक जेल में रखने की याचिका दाखिल की है। कंपनी का कहना है कि जब तक अनिल अंबानी उसके 550 करोड़ रुपये नहीं लौटाते हैं तब तक उनकी विदेश यात्राओं पर रोक लगे और उन्हें जेल में कैद रखा जाए। वहीं, दूसरी तरफ अनिल अंबानी की कंपनी ने भी इस मामले में देश के संचार विभाग के खिलाफ सर्वोच्च अदालत में मुकदमा दायर किया है। जिसमें उन्होंने स्पेट्रम की नीलामी में हुई देरी की वजह से एरिक्सन और दूसरे देनदारों का पैसा नहीं चुका पाने की दलील दी है।

इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक एरिक्सन के वकील ने कहा है कि रिलायंस कम्युनिकेशंस उनके बकाये का भुगतान नहीं कर रही है। भुगतान को लेकर इंतजार काफी लंबा हो चुका है। वैसे भी इस मामले में अनिल अंबानी ने 550 करोड़ रुपये जमा करने की गारंटी व्यक्तिगत तौर पर सुप्रीम कोर्ट में दी है। वकील का कहना है कि अनिल अंबानी अदालत के निर्दोशों की अवमानना कर रहे हैं। गौरतलब है कि अगर अनिल अंबानी अवमानना के दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें 6 महीने की जेल हो सकती है। सुप्रीम कोर्ट अब दोनों ही मामलों में सोमवार (7 जनवरी, 2019) को सुनवाई करेगा।

यह दूसरी बार है जब रिलायंस कम्युनिकेशंस ने स्वीडन की कंपनी एरिक्सन को पैसे नहीं चुकाया है। इससे पहले 30 सितंबर को डेडलाइन पूरा होने के दौरान भी कंपनी ने अंबानी के खिलाफ अक्टूबर में याचिका दाखिल की थी। कोर्ट ने अनिल अंबानी की कंपनी को 15 दिसंबर को पैसे का भुगतान करन के लिए दिन निर्धारित किया था। लेकिन, इस बार भी कंपनी पैसे देने में असफल रही। एरिक्सन ने सूद समेत पूरा पैसा वापस लौटाने की मांग की।

वहीं, अनिल अंबानी द्वारा एरिक्सन को पैसा नहीं चुकाने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुद्दे को लपक लिया है और इसका हवाला देते हुए इसे राफेल सौदे से फिर जोड़ा है। राहुल गांधी ने कहा ट्वीट कर कहा, “भ्रष्टाचार का एक और मामला, अंतरराष्ट्रीय कर्जखोर अनिल अंबानी को राफेल का कॉन्ट्रैक्ट देकर राष्ट्रीय सुरक्षा को दांव पर लगाने के लिए प्रधानमंत्री के खिलाफ जांच की जानी चाहिए।” गौरतलब है कि राहुल गांधी राफेल के मुद्दे पर अनिल अंबानी और पीएम मोदी को संसद से लेकर सड़क और ट्वीटर पर घेरे हुए हैं। इस मुद्दे पर हमला बोलने के लिए राहुल एक भी मौका नहीं चूक रहे हैं।

Next Stories
1 सबरीमाला विवाद: विरोध जताने कांग्रेसी काली पट्टी बांध पहुंचे थे संसद, सोनिया ने करवा दिया मना, जानें क्यों?
2 कांग्रेस से गठबंधन के पक्ष में नहीं पंजाब के AAP नेता, केजरीवाल के सामने दर्ज कराया विरोध
3 तीन तलाक: राज्यसभा में वोटिंग से पीछे हट सकती है बीजेपी, जेडीयू ने बढ़ाई परेशानी
ये पढ़ा क्या?
X