ताज़ा खबर
 

EPFO अंशधारकों के लिए अच्छी खबर! जन्मतिथि प्रमाण के तौर पर Aadhaar Card होगा ऑनलाइन स्वीकार

बयान के अनुसार आधार में अंकित जन्म तिथि को अब सुधार के लिये वैध साक्ष्य मना जाएगा। लेकिन इसमें शर्त है कि दोनों तारीखरें में अंतर तीन साल से कम हो।

Author नई दिल्ली | Updated: April 5, 2020 8:51 PM
7th Pay Commission: CRPF में भी 1412 पद खाली हैं, जिनके लिए आवेदन मांगे गए हैं। (फोटोः Freepik)

Employees’ Provident Fund Organisation (EPFO) खाते के KYC (अपने ग्राहक को जानो) के अनुपालन को सुनिश्चित करने को लेकर अपने अंशधारकों की जन्म तिथि में सुधार के लिये Aadhaar Card को वैध साक्ष्य मानेगा और उसे ऑनलाइन स्वीकार करेगा। श्रम मंत्रालय ने रविवार को एक बयान में कहा, ‘‘कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए ऑनलाइन सेवाओं की पहुंच और उपलब्धता बढ़ाने के लिये ईपीएफओ ने अपने क्षेत्रीय कार्यालयों को संशोधित निर्देश जारी किया है। इसके तहत पीएफ सदस्य ईपीएफओ रिकार्ड में अपनी जन्म तिथि आसानी से सुधार सकेंगे। इससे यह यह सुनिश्चित होगा कि यूएएन (सार्वभौमिक खाता संख्या) केवाईसी का अनुपालन करती है।

COVID-19 LIVE Updates

बयान के अनुसार आधार में अंकित जन्म तिथि को अब सुधार के लिये वैध साक्ष्य मना जाएगा। लेकिन इसमें शर्त है कि दोनों तारीखों में अंतर तीन साल से कम हो। पीएफ अंशधारक सुधार के लिये अनुरोध ऑनलाइन जमा कर सकते हैं। इससे ईपीएफपीओ भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के साथ तत्काल ऑनलाइन जन्म तिथि का सत्यापन कर सकेगा। इससे अनुरोध को अमल में लाने में लगने वाला समय कम होगा।

Coronavirus World News LIVE Updates

ईपीएफओ ने अपने क्षेत्रीय कार्यालयों से कहा है कि वे ऑनलाइन अनुरोध का तेजी से निपटान करेंगे। इससे कोरोना वायरस महमारी और ‘लॉकडाउन’ (बंद) के कारण आर्थिक संकट में फंसे भविष्य निधि सदस्यों को अपने खाते से पैसा निकालने को लेकर ऑनलाइन आवेदन में कोई समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। इससे पहले, ईपीएफओ ने अपने अंशधारकों को अपने अपने वेतन (मूल वेतन और महंगाई भत्ता) को खाते से निकालने की अनुमति दी थी।

LIVE: आज रात 9 नौ बजे 9 मिनट के लिए देशवासी जलाएंगे दीया, बत्ती और टॉर्च

कोरोना वायरस और देशव्यापी बंद को देखते हुए खाते से ऑनलाइन आवेदन देकर राशि निकालने की अनुमति दी गयी। इस राशि को लौटाये जाने की जरूरत नहीं है। हालांकि यह सुविधा उन्हीं अंशधारकों के लिये उपलब्ध है जिनका खाता केवाइसी नियमों का पालन करता है। इस निर्णय से अंशधारकों को अपना सावैभौमिक खाता संख्या केवाईसी नियमों के अनुरूप करने में मदद मिलेगी।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 ‘COVID-19 पर PM नरेंद्र मोदी संग बैठक को न मिला न्यौता’, बोले असदुद्दीन ओवैसी- ये तो बेइज्जती है
2 BJP Foundation Day से ऐन पहले ‘दीया-बाती इवेंट’, कर्नाटक पूर्व CM बोले- इसके पीछे है छिपा एजेंडा, PM मोदी दें स्पष्टीकरण
3 देश के 274 जिलों में फैला कोरोनावायरस, हर 4.1 दिन में दोगुने हो रहे संक्रमण के मामले, तब्लीगी जमात का कार्यक्रम न होता तो इसमें 7.4 दिन लगते