ताज़ा खबर
 

PMC घोटाला: लग्जरी लाइफस्टाइल के शौकीन हैं आरोपी! करोड़ों की कारें जब्त, बेंटले से लेकर रॉल्स रॉयस तक शामिल

ईडी ने एचडीआईएल के प्रोमोटर्स और बैंक के वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। इससे पहले 6500 करोड़ रुपये के लोन घोटाले में पीएमसी बैंक के प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस को गिरफ्तार किया था।

Author नई दिल्ली | October 5, 2019 10:12 AM
Enforcement Directorate, HDIL, HDIL promoters, PMC Bank, Bank loan fraud, cooperative bank, Punjab and Maharashtra (PMC) Bank, ED,india news, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindi ईडी ने मुंबई में एचडीआईएल के प्रोमोटर्स के घर से 12 लग्जरी कारें जब्त की। (प्रतीकात्मक फोटो)

प्रवर्तन निदेशालय ने पंजाब एंड महाराष्ट्र (PMC) सहकारी बैंक लोन घोटाला मामले में आरोपी हाउसिंग डेवलपमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्टचर लिमिटेड (HDIL) के प्रोमोटर्स के खिलाफ कार्रवाई की। इस मामले में एचडीआईएल के प्रोमोटर्स को गिरफ्तार किया जा चुका है। उन्हें 9 अक्टूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

ईडी ने मुंबई में छह स्थानों पर छापा मारकर एचडीआईएल के प्रोमोटर्स के घर से 12 लग्जरी कारें जब्त की। ये कारें कंपनी के प्रोमोटर्स राकेश वधावन और उनके बेटे सारंग से जुड़ी हुई है। जब्त की गई कारों में 6-6 करोड़ रुपये मूल्य की दो रॉल्स रॉयस कारें शामिल हैं।

इसके अलावा 2 करोड़ रुपये की बेंटले कॉन्टिनेंटल जीटी कार भी ईडी ने जब्त की है। जब्त की गई अन्य कारों में दो रेंज रोवर, एक मर्सीडीज और एक बीएमडब्ल्यू शामिल हैं। एचडीआईएल के प्रोमटर्स ने पीएमसी बैंक से 6500 करोड़ रुपये का लोन लेकर उनसे नहीं चुकाने के मामले में आरोपी है।

इस धोखाधड़ी में बैंक के कुछ अधिकारी भी शामिल हैं। ईडी की कार्रवाई से साफ है कि राकेश वधावन और सारंग वधावन लग्जरी लाइफस्टाइल के शौकीन रहे हैं। ईडी ने एचडीआईएल के प्रोमोटर्स और बैंक के वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत केस दर्ज किया है।

इससे पहले 6500 करोड़ रुपये के लोन घोटाले में पीएमसी बैंक के प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस को गिरफ्तार किया था। पीएमसी बैंक ने अपने कुल लोन का 75 फीसदी हिस्सा एचडीआईएल को दिया था। एचडीआईएल अब दिवालिया हो चुकी है। एचडीआईएल के दोनों प्रोमोटर्स ने पीएमसी बैंक से लिए गए लोन को छुपाने के लिए 21000 फर्जी खाते खुलवाए थे।

रियल स्टेट कंपनी एचडीआईएल लगातार लोन भुगतान करने में असफल रह रही थी लेकिन बैंक की तरफ से अपनी सालाना रिपोर्ट में इस बात का जिक्र नहीं किया था। सहकारी बैंक ने पहले के लोन का भुगतान नहीं करने के बाद भी बैंक की तरफ से एचडीआईएल को नया लोन दिया गया।

Next Stories
1 घर के सपनों पर भी पड़ेगी मंदी की मार! 63 बिलियन डॉलर के आवासीय प्रोजेक्ट अटके, जबर्दस्त नकदी संकट से जूझ रहीं रियल एस्टेट कंपनियां
2 INX मीडिया केस: वित्त मंत्रालय के पूर्व अफसरों पर ऐक्शन पर भड़के 70 रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट, पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी
3 पूर्व महिला मेयर और पति को BJP ने किया बर्खास्त, मारपीट के वीडियो से हुई थी पार्टी की फजीहत
आज का राशिफल
X