ताज़ा खबर
 

जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल के 12 ठिकानों पर ईडी का छापा, मनी लॉन्ड्रिंग केस में हुई कार्रवाई

एयरलाइन द्वारा की गईं कथित अनियमितताओं और फंड के डायवर्जन को लेकर सबूत एकत्रित करने के लिए यह छापेमारी की गई। आरोप है कि जेट एयरवेज ने एहतियाद एयरवेज के साथ 2014 में की गई 150 मिलियन डॉलर की डील में विदेशी मुद्रा विनियमों का कथित उल्लंघन किया।

Author नई दिल्ली | Published on: August 23, 2019 6:01 PM
जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल। (Source: Reuters/File)

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जेट एयरवेज के संस्थापक नरेश गोयल के ठिकानों पर शुक्रवार को छापेमारी की। गोयल पर यह कार्रवाई मनी लॉन्ड्रिंग केस में की गई। गोयल के दिल्ली और मुंबई स्थित ठिकानों पर कार्रवाई की गई। गोयल पर आरोप है कि उन्होंने विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) का उल्लंघन किया है।

कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय (एमसीए) ने जुलाई में जारी अपनी निरीक्षण रिपोर्ट में कहा है कि गोयल की कंपनी में बड़े पैमाने पर अनियमितताएं पाई गई है जिसमें गैर कानूनी तरीके से फंड का डायवर्जन भी शामिल है। इस रिपोर्ट के बाद सरकार ने गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (एसएफआईओ) को मामले की जांच के आदेश दे दिए। छापेमारी पर ईडी के अधिकारी ने कहा है कि फेमा के उल्लंघन पर यह कार्रवाई की गई है।

वित्तीय संकट का सामना कर रही एयरलाइन द्वारा की गईं कथित अनियमितताओं और फंड के डायवर्जन को लेकर सबूत एकत्रित करने के लिए यह छापेमारी की गई। आरोप है कि जेट एयरवेज ने एहतियाद एयरवेज के साथ 2014 में की गई 150 मिलियन डॉलर की डील में विदेशी मुद्रा विनियमों का कथित उल्लंघन किया।

मालूम हो कि इसी साल मार्च में गोयल ने कंपनी के चेयरमैन पद से इस्तीफा दे दिया था। 2018 में एयरलाइंस के घाटे के स्वतंत्र निदेशक रंजन मथाई ने भी इस्तीफा दे दिया। वर्तमान में, जेट एयरवेज इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड के तहत रिजॉल्यूशन प्रक्रिया से गुजर रहा है।

नरेश गोयल ने 26 साल पहले जेट एयरवेज की स्थापना की थी। मालूम हो कि 2007 में जेट एयरवेज में 13,000 कर्मचारी थे लेकिन अगले साल 2008 में 2000 लोगों की छंटनी कर दी गई थी। 2012 के बाद कंपनी पिछड़ने लगी थी। पहले इसे इंडिगो ने पछाड़ा फिर इसके बाद कंपनी ने यूएई की एतिहाद में भी हिस्सेदारी खरीद ली। 26 साल पुरानी जेट एयरवेज के पास कर्मचारियों के वेतन, विमानों और तेल कंपनियों के किराए, हवाई अड्डे तक के भुगतान आदि तक के लिए पैसे नहीं हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 जज के सामने कोर्टरूम में भिड़े चिदंबरम के वकील और सॉलिसिटर जनरल, SG देना चाहते थे पेपर पर अड़ गए सिब्बल- ऐसे पेश नहीं होते फर्जी कागज
2 बिहार से भागे MLA अनंत सिंह का दिल्ली के कोर्ट में सरेंडर, AK-47 बरामद होने के बाद पुलिस ने लगाया है UAPA
3 Narendra Modi in France: ‘भारत में अब कोई जगह टेंपरेरी नहीं’, जानें PM के भाषण की अहम बातें