बिहारः शराबबंदी के बावजूद असेंबली परिसर में मिलीं खाली बोतलें, राजद के तेजस्वी ने मांगा सीएम नीतीश का इस्तीफा

बिहार विधानसभा में शराब की बोतलें मिलने के मामले में विधानसभा सत्र के पहले दिन विपक्ष ने राज्य में शराब माफिया को नियंत्रित करने में ”विफल” रहने के लिए नीतीश कुमार सरकार की आलोचना की।

tejashwi yadav, Nitish kumar
CM नीतीश कुमार ने कहा कि विधानसभा परिसर में शराब की बोतलें मिलने का मामला बर्दाश्त नहीं किया जा सकता(फोटो सोर्स: ट्विटर/PTI)।

बिहार में शराब बंदी के बावजूद विधानसभा में शराब की बोतलें पाये जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। बता दें कि आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने इस घटना को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का इस्तीफा मांगा है। उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा के अंदर शराब की बोतल कहां से आई? मुख्यमंत्री को खुद मुआयना करना चाहिए।

पटना में तेजस्वी यादव ने कहा कि शराब माफिया के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर हमने देखी है। नीतीश कुमार के मंत्रियों को अपराध करने की छूट है। विधानसभा में शराब की बोतलें मिलने के बाद अब CM को बिहार की जनता से माफी मांगनी चाहिए। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए विधायकों द्वारा राज्य में पूर्ण शराबबंदी के पक्ष में शपथ लेने के ठीक एक दिन बाद मंगलवार को बिहार विधानसभा परिसर में शराब की कई खाली बोतलें मिलीं।

वहीं तेजस्वी के वार पर पलटवार करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि विधानसभा परिसर में शराब की बोतलें मिलने का मामला बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। हम मुख्य सचिव और DGP को इस पर कार्रवाई करने के लिए कहेंगे। अगर यहां शराब की बोतल आई है तो इसका मतलब कोई गड़बड़ कर रहा है और उसको छोड़ना नहीं चाहिए।

नीतीश कुमार ने कहा, “मैं स्पीकर के सामने यह कहता हूं कि अगर वह अनुमति देते हैं तो मैं सभी से आज ही इसकी जांच करने के लिए कहूंगा। वहीं विधानसभा स्पीकर विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि मैं सदन के नेता (सीएम नीतीश कुमार) से कहना चाहूंगा कि इस मामले में जरूर कार्रवाई होनी चाहिए।

बता दें कि इससे पहले विधानसभा परिसर में खाली बोतलें मिलने को लेकर तेजस्वी यादव इसे देखने पहुंचे थे। उन्होंने इसका वीडियो भी अपने ट्विटर अकांउट पर शेयर किया है। शेयर करते हुए उन्होंने ‘अद्भुत’ लिखा।

अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, “अदभुत! बिहार विधानसभा परिसर के अंदर में शराब की बोतलें बरामद। अभी शीतकालीन सत्र चल रहा है। CM के चेंबर से मात्र चंद कदम की दूरी पर विभिन्न ब्रांड की शराब ही शराब उपलब्ध। कड़ी सुरक्षा के बीच चालू सत्र में ही विधानसभा में शराब मिल रही है, शेष बिहार की आप बस कल्पना कीजिए! शर्मनाक!”

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।