ताज़ा खबर
 

चुनाव आयोग खरीदेगा नई ईवीएम, छेड़छाड़ होने पर बंद कर देंगी काम, लगा होगा सेल्फ डायग्नोस्टिक सिस्टम

‘एम3’ प्रकार की ईवीएम में मशीनों की यथार्थता के प्रमाणन के लिए एक ‘सेल्फ डायग्नोस्टिक सिस्टम’ लगा है। ये मशीनें एक आपसी प्रमाणन प्रणाली के साथ आएंगी।

ईवीएम (वीवीपीएटी) की फाइल फोटो। (Source: PIB)

निर्वाचन आयोग ऐसी आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनें खरीदने को तैयार है जो इनके साथ छेड़छाड़ की कोशिश होने पर काम करना बंद कर देंगी। यह कदम एक ऐसे समय पर उठाया जा रहा है जब कई दल हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनावों में ईवीएम के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगा चुके हैं। ‘एम3’ प्रकार की ईवीएम में मशीनों की यथार्थता के प्रमाणन के लिए एक ‘सेल्फ डायग्नोस्टिक सिस्टम’ लगा है। ये मशीनें एक आपसी प्रमाणन प्रणाली के साथ आएंगी।

सिर्फ एक ‘सही’ ईवीएम ही क्षेत्र की अन्य ईवीएम के साथ ‘संवाद’ कर सकती है। इसका निर्माण परमाणु ऊर्जा पीएसयू ईसीआईएल या रक्षा क्षेत्र की पीएसयू बीईएल द्वारा हुआ होना चाहिए। किसी भी अन्य कंपनी द्वारा बनाई गई ईवीएम अन्य मशीनों से संवाद नहीं कर पाएगी। इस तरह गलत मशीन का पर्दाफाश हो जाएगा।

विधि मंत्रालय ने निर्वाचन आयोग की ओर से संसद को उपलब्ध करवाई जाने वाली जानकारी के हवाले से कहा कि नयी मशीनें खरीदने के लिए लगभग 1940 करोड़ रूपए (मालभाड़ा और कर के अतिरिक्त) का खर्च आएगा। ये मशीनें वर्ष 2018 में यानी अगले लोकसभा चुनाव से एक साल पहले आ सकती हैं। निर्वाचन आयोग ने वर्ष 2006 से पहले खरीदी गई 9,30,430 ईवीएम को बदलने का फैसला किया है क्योंकि पुरानी मशीनों का 15 साल का जीवनकाल पूरा हो चुका है।

यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद ईवीएम मशीनों के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगा था। चुनाव के नतीजे आने के बाद सबसे पहले बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने ईवीएम से छेड़छाड़ का आरोप लगाया था। इसके बाद बसपा ने चुनाव आयोग को पत्र लिखा था। पत्र के जवाब में चुनाव आयोग ने इन आरोपों का खंडन किया था और कहा था कि इन आरोपों में कोई दम नहीं है।

इसके बाद आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोप लगाए थे। मध्यप्रदेश के भिंड उप चुनाव में एक मशीन ऐसी मिली थी कि जिसमें कोई भी बटन दबाओ पर्ची भाजपा की ही निकल रही थी। इसके बाद कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयुक्त से मुलाकात की थी। चुनाव आयुक्त से मुलाकात के बाद अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि यह संभव है कि ईवीएम में छेड़छाड़ की जा सकती है, ईवीएम के साथ छेड़छाड़ करके पूरे देश को धोखा दिया जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App