ताज़ा खबर
 

राज्यसभा की 18 सीटों के लिए चुनाव 19 जून को, निर्वाचन आयोग ने की घोषणा

इन सीटों के लिए चुनाव कोरोना वायरस महामारी के कारण टाल दिए गए थे। इन 18 सीटों में से चार-चार सीटें आंध्र प्रदेश और गुजरात से हैं। इसके अलावा झारखंड की दो सीटें हैं जबकि मध्य प्रदेश और राजस्थान से तीन-तीन सीटें हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: June 1, 2020 9:09 PM
ECI, Rajya Sabha election, 7 state, Andhra Pradesh, Rajasthan, Madhya Pradesh news, Jharkhand news, Manipur news, election commission of India, Rajya sabha, Congress, BJP, india news, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindiचुनाव आयोग के अनुसार इन सीटों पर चुनाव के बाद मतों की गिनती 19 जून को होगी। (फाइल फोटो)

निर्वाचन आयोग (ईसी) ने सोमवार को घोषणा की कि राज्यसभा की 18 सीटों के लिए 19 जून को चुनाव कराए जाएंगे। इन सीटों के लिए चुनाव कोरोना वायरस महामारी के कारण टाल दिए गए थे। इन 18 सीटों में से चार-चार सीटें आंध्र प्रदेश और गुजरात से हैं।

इसके अलावा झारखंड की दो सीटें हैं जबकि मध्य प्रदेश और राजस्थान से तीन-तीन सीटें हैं। मणिपुर और मेघालय की एक-एक सीट के लिए भी चुनाव होंगे। आयोग ने एक बयान में कहा कि मतों की गिनती 19 जून शाम को होगी।

गत मार्च महीने में चुनावों के स्थगन की घोषणा करते हुए आयोग ने स्पष्ट किया था कि इन सीटों के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने समेत पूरी हुई सभी प्रक्रियाएं वैध रहेंगी। एक अधिकारी ने कहा, ‘‘अब सिर्फ मतदान और मतगणना होनी है।’’ निर्वाचन आयोग ने कोरोना वायरस के खतरे का हवाला देते हुए चुनाव स्थगित कर दिया था और कहा था कि इन सीटों के लिए चुनाव पर फैसला हालात की समीक्षा के बाद किया जाएगा।

छह राज्यों से 17 सदस्यों का कार्यकाल नौ अप्रैल को पूरा हुआ था, जबकि मेघालय से एक सदस्य का कार्यकाल 12 अप्रैल को पूरा हुआ था। संसद के ऊपरी सदन की 55 सीटों के लिए मूलत: 26 मार्च को चुनाव होना था, हालांकि 37 उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिए थे। आयोग के बयान के मुताबिक, उसने गृह मंत्रालय की ओर से जारी दिशानिर्देशों सहित सभी पहलुओं पर विचार करने के बाद चुनाव कराने का निर्णय लिया।

उसने यह फैसला भी किया कि राज्य के मुख्य सचिव एक वरिष्ठ अधिकारी की तैनाती करेंगे जो यह सुनिश्चित करेगा कि चुनाव कराने के लिए इंतजाम किए जाते समय कोविड-19 से संबंधित निर्देशों का पालन हो। आयोग ने संबंधित राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों को चुनाव के लिये पर्यवेक्षक नियुक्त किया है।

इससे पहले, निर्वाचन सदन में करीब तीन महीने बाद सोमवार को पहली बार पूर्ण निर्वाचन आयोग की बैठक हुई। इसमें मुख्य निर्वाचन आयुक्त और दो निर्वाचन आयुक्त शामिल थे। आयोग वीडियो लिंक के माध्यम से बैठकों का आयोजन कर रहा था, क्योंकि मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा मार्च के शुरुआत में अमेरिका की यात्रा पर गए थे और लॉकडाउन की वजह से वहीं फंस गए थे।

अरोड़ा हाल में भारत लौटे हैं और सोमवार को दफ्तर आने से पहले अनिवार्य पृथक-वास में गए थे। पिछले दिनों वीडियो लिंक से बैठक के जरिए महाराष्ट्र में विधान परिषद के चुनाव की इजाजत देने का अहम फैसला किया गया था, जिससे उद्धव ठाकरे के लिए मुख्यमंत्री बनने के छह महीने के अंदर राज्य विधानमंडल का सदस्य बनने का रास्ता प्रशस्त हो गया था।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कैबिनेट बैठकः 14 खरीफ फसलों के लिये न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित, किसानों को मिलेगा लागत का डेढ़ गुना
2 Cyclone Nisarga Tracker, Weather Today Highlights: गुजरात में कम रहा तूफान निसर्ग का प्रभाव, महाराष्ट्र और एमपी में हो सकती है बारिश
3 कोरोना पर हेल्थ एक्सपर्ट्स ने किया साफ- शुरू हो चुका है कम्युनिटी ट्रांसमिशन, महामारी रोकने में विशेषज्ञों से नहीं लिए गए सुझाव
IPL 2020
X