ताज़ा खबर
 

चुनाव आयोग ने पीएम मोदी को दी क्लीन चिट- ‘मिशन शक्ति’ पर दिया भाषण आचार संहिता का उल्लंघन नहीं 

पीएम ने देश को संबोधित करते हुए बताया था कि भारतीय स्पेस एजेंसी ने ‘मिशन शक्ति’ नाम के एक ऑपरेशन में लो अर्थ ऑर्बिट (LEO) में बेकार पड़े एक सैटलाइट को मार गिराया है। पीएम की इस घोषणा के बाद विपक्षी दलों ने उसकी टाइमिंग पर ऐतराज जताया था।

PM Modi Address to Nation: पीएम मोदी का राष्ट्र के नाम संबोधन की फाइल फोटो (सोर्स-ANI)

चुनाव आयोग (ईसी) ने शुक्रवार (29 मार्च) की देर शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आचारसंहिता उल्लंघन से जुड़े एक मामले में क्लीन चिट दे दिया है। आयोग ने यह साफ कर दिया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘मिशन शक्ति’ की सफलता पर राष्ट्र के नाम दिया गया संबोधन आदर्श चुनावी आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है। दरअसल, बुधवार (27 मार्च) को पीएम मोदी ने इस उपग्रह भेदी मिसाइल के सफल इस्तेमाल की जानकारी देने के लिए देश के नाम संबोधन दिया था। विभिन्न राजनीतिक दलों ने इसे आदर्श चुनाव आचारसंहिता का उल्लंघन बताया था और आयोग से इसकी शिकायत की थी। विपक्ष ने यह दावा किया  था कि पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों की इस उपलब्धि का राजनीतिक इस्तेमाल कर चुनावी लाभ लेने की कोशिश की है।

पीएम ने देश को संबोधित करते हुए बताया था कि भारतीय स्पेस एजेंसी ने ‘मिशन शक्ति’ नाम के एक ऑपरेशन में लो अर्थ ऑर्बिट (LEO) में बेकार पड़े एक सैटलाइट को मार गिराया है। पीएम की इस घोषणा के बाद विपक्षी दलों ने उसकी टाइमिंग पर ऐतराज जताया था। तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने इसे राजनीतिक घोषणा करार देते हुए कहा था कि यह आदर्श चुनावी आचार संहिता का उल्लंघन है।

ममता कहा, “यह एक राजनीतिक घोषणा है, जबकि इसे वैज्ञानिकों द्वारा बताया जाना चाहिए था, यह उनका क्रेडिट है। सिर्फ एक सैटेलाइट नष्ट किया गया, इसकी कोई जरूरत नहीं थी। सैटलाइट लंबे समय से पड़ा था। यह वैज्ञानिकों का विशेषाधिकार है कि यह कब करना है। हम इसकी शिकायत चुनाव आयोग से करेंगे।” ममता ने मिशन का क्रेडिट लेने पर पीएम मोदी की कड़ी आलोचना की थी और कहा था कि क्या वह अंतरिक्ष में जाने वाले हैं या स्पेस एजेंसी में काम करते हैं। ममता के अलावा कांग्रेस और सीपीआई ने भी ऐतराज जताते हुए आयोग से शिकायत की थी। इसके बाद आयोग ने हाई लेवल मीटिंग बुलाकर मामले की जांच करने और पीएम के भाषण की कॉपी पेश करने के आदेश दिए थे। दो दिनों के बाद आखिरकार आयोग ने पीएम को क्लीन चिट दे दिया।

Next Stories
1 एयर स्ट्राइक के महीनेभर बाद पाक आर्मी पत्रकारों को ले गई बालाकोट, मदरसे में थे 300 बच्चे
2 Nirav Modi Case: लंदन कोर्ट में बोले वकील, ‘सहयोग नहीं कर रहा नीरव मोदी, गवाह को दी जान से मारने की धमकी’
3 4G कनेक्टिविटी में टॉप पर है धनबाद, जानिए- आपके शहर में कैसा है नेटवर्क का हाल?
आज का राशिफल
X