ताज़ा खबर
 

ताजमहल को लेकर केंद्र पर बरसा सुप्रीम कोर्ट- या तो हम बंद कर देंगे या सरकार ढहा दे

सुप्रीम कोर्ट ने आगरा के ताजमहल को लेकर केंद्र सरकार पर सख्त टिप्पणी की। कहा कि या तो हम ताज बंद कर देंगे या फिर आप इसे ध्वस्त करेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि एफिल टॉवर से भी ज्यादा सुंदर देश का ताजमहल है।

Author नई दिल्ली | July 11, 2018 14:21 pm
आगरा स्थित ताजमहल फाइल फोटो।

सुप्रीम कोर्ट ने आगरा के ताजमहल को लेकर केंद्र सरकार पर सख्त टिप्पणी की। कहा कि या तो हम ताज बंद कर देंगे या फिर आप इसे ध्वस्त करेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि एफिल टॉवर से भी ज्यादा सुंदर देश का ताजमहल है। यह देश में विदेशी मुद्रा की समस्या को हल कर सकता है।सुप्रीम कोर्ट ने दरअसल यह बात ताजमहल की मरम्मत से जुड़ी याचिका पर सुनवाई करते हुए कही।16 वीं सदी के इस संगमरमर से बने मकबरे को देखने के लिए हर साल भारत ही नहीं दुनिया के हजारों सैलानी आते हैं।इस मकबरे का निर्माण मुगल बादशाह शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज महल की याद में बनवाया था।

टिप्पणी करने के दौरान जज ने यूरोप के प्रसिद्ध पर्यटक स्थल एफिल टॉवर की तुलना टीवी टॉवर से की।कोर्ट ने कहा- आठ करोड़ लोग एफिल टॉवर देखने जाते हैं, जो एक टीवी टॉवर जैसा दिखता है।हमारा ताजमहल और ज्यादा सुंदर है।यदि इसकी उचित देखभाल हो तो यह विदेशी मुद्रा संकट दूर करने में मददगार साबित हो सकता है। कोर्ट ने केंद्र सरकार को फटकार लगाते हुए कहा-क्या आपको पता है कि आपकी उदासीनता से देश को कितना बड़ा नुकसान हो रहा है?
सुप्रीम कोर्ट ने आगरा में औद्यौगिक इकाइयों के विस्तार पर लगे प्रतिबंध के उल्लंघन को लेकर भी ताज ट्रैपिजियम जोन के अध्यक्ष से सवाल-जवाब किया।सुप्रीम कोर्ट ने साल की शुरुआत में इस मुगल स्मारक के संरक्षण के लिए उचित कदम उठाने में विफलता के लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण(एएसआई) को दोषी ठहराया था। मई में अदालत ने संज्ञान लिया था कि प्रदूषण के कारण ताजमहल का रंग बदल रहा है। ताजमहल का कलर उस वक्त पीला पड़ गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App