ताज़ा खबर
 

EID 2017: हिंसा की घटनाओं के विरोध में काली पट्टी बांधकर ईद की नमाज पढ़ेंगे मुसलमान

सोशल मीडिया के जरिए भी युवाओं से अपील की कि काली पट्टी बांधकर ईद की नमाज पढ़ें और अपनी तस्वीर खींचकर फेसबुक पर अपलोड करें।

Author Updated: June 25, 2017 8:03 PM
Muslim devotees celebrating Eid at Jama Masjid, chinaतस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (Express Photo)

भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या किए जाने की हाल की घटनाओं के विरोध में विभिन्न संगठनों तथा सामाजिक कार्यकर्ताओं ने काली पट्टी बांधकर ईद की नमाज पढ़ने का आह्वान किया है। हरियाणा में गत गुरुवार को ट्रेन में ईद की खरीदारी करने जा रहे एक युवक की पीट-पीटकर हत्या, उसी दिन पश्चिम बंगाल में कथित रूप से गाय की चोरी के आरोप में तीन लोगों की हत्या, हाल में जम्मू-कश्मीर में पुलिस अफसर अयूब पंडित की हत्या, इससे पहले राजस्थान के अलवर में भीड़ द्वारा पहलू खां की हत्या, दादरी में अखलाक हत्या काण्ड इत्यादि मामलों का विरोध जताने के लिए सोशल मीडिया पर भी एक अभियान चलाया जा रहा है, जिसमें मुसलमानों से सोमवार को ईद पर काली पट्टी बांधकर नमाज पढ़ने को कहा गया है।

माइनारिटी एजुकेशन एण्ड इम्पॉवरमेंट मिशन (मीम) के उत्तर प्रदेश सचिव अब्दुल हन्नान ने बताया कि उनके संगठन ने देश की तमाम मस्जिदों के इमामों को फोन करके कहा है कि वे मुसलमानों से ईद की नमाज पढ़ते वक्त बाजू पर काली पट्टी बांधने को कहें। उन्होंने दावा किया कि इस मुहिम में लखनऊ स्थित प्रमुख इस्लामी शिक्षण संस्थान नदवतुल उलमा ने भी सहयोग का आश्वासन दिया है। हन्नान ने बताया कि उनके संगठन से जुड़े लोग इस संदेश को दूर-दूर तक फैला रहे हैं। कोशिश है कि इस विरोध को बड़े पैमाने पर सरकार के पास पहुंचाया जाए, ताकि भीड़ के हाथों मौतों का सिलसिला रोका जा सके। इस सिलसिले में फेसबुक पर अभियान चला रहे शायर इमरान प्रतापगढ़ी ने कहा कि हमने युवाओं से अपील की है कि वे इन घटनाओं के विरोध में काली पट्टी बांधकर ईद की नमाज पढ़ें और अपनी तस्वीर खींचकर फेसबुक पर अपलोड करें।

इमरान ने कहा, ‘‘ ईद अल्लाह का तोहफा है, हम लोकतांत्रिक तरीके से विरोध करेंगे। हम कोई धरना-प्रदर्शन नहीं करेंगे। हम सिर्फ नमाज के दौरान विरोध करेंगे। अगर अब इन घटनाओं का विरोध नहीं किया गया तो कल हम भी भीड़ का शिकार बन सकते हैं।’’ ‘यश भारती’ से सम्मानित किये जा चुके इमरान ने कहा कि सोशल मीडिया के जरिये दुनिया में फैल चुके आह्वान का असर है कि रविवार को सऊदी अरब में सैकड़ों लोगों ने काली पट्टी बांधकर नमाज पढ़ी है। फेसबुक और ट्विटर पर पड़ी तस्वीरें इसकी गवाह हैं। यह हिन्दुस्तान की तहजीब और टूटते समाज को बचाने की छोटी सी कोशिश है।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जर्मनी में मोदी से मुलाकात के एक महीने बाद ही NDMC ने प्रियंका चोपड़ा को दी बड़ी जिम्‍मेदारी
2 देश के सबसे बड़े बैंक की मुखिया निजी बैंकों के हेड से 75% कम पाती हैं सैलरी, जानिए-किसकी है कितनी तन्ख्वाह
3 राष्‍ट्रपति चुनाव: सुषमा स्‍वराज का विपक्षी उम्‍मीदवार मीरा कुमार पर निशाना- ‘उन्‍होंने मुझे 6 मिनट में 60 बार टोका’
ये पढ़ा क्या?
X