ताज़ा खबर
 

7वीं बार CM बने नीतीश हैं इंजीनियर, NIT पटना से की थी पढ़ाई; जानें- कितने पढ़े लिखे हैं बाकी 13 मंत्री

सरकार में दो उपमुख्यमंत्री हैं और दोनों नेता तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी केवल इंटरमीडिएट तक की शिक्षा प्राप्त की हैं। वरिष्ठ मंत्री डॉ. मेवालाल चौधरी उच्च शिक्षित हैं, वहीं गठबंधन में शामिल विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के नेता मुकेश सहनी की शिक्षा मैट्रिक से भी कम है।

Nitish Kumar, nitish kumar family, nitish kumar age, nitish kumar cast, Bihar Chief minister Nitish Kumarनीतीश कुमार ने राजनीति पारी की शुरुआत जनता पार्टी से की। 1977 और 80 के विधानसभा चुनावों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

बिहार की नवगठित राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार ने शपथ ग्रहण के साथ ही कार्यभार संभाल लिया है। सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश समेत 15 मंत्रियों ने पद और गोपनीयता की शपथ ली। नवगठित नीतीश कैबिनेट में भाजपा कोटे से 7 और जदयू कोटे से 5 मंत्री बनाए गए हैं। इसके अलावा हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा (हम)से संतोष कुमार सुमन और चुनाव हार चुके वीआईपी के मुकेश सहनी ने भी मंत्री पद की शपथ ली। नई सरकार में फिलहाल कई मंत्री उच्च शिक्षित हैं तो कुछ ने मैट्रिक तक की ही शिक्षा ली है।

जनता दल (यू) के नेता और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इंजीनियरिंग तक की शिक्षा प्राप्त की है। उन्होंने पटना के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की है। वही उनके डिप्टी और सरकार में उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद केवल इंटर पास हैं। उन्हें बीजेपी के विधानमंडल दल (विधानसभा और विधान परिषद) का नेता भी चुना गया है। सरकार में दूसरी उपमुख्यमंत्री रेणु देवी ने भी इंटरमीडिएट तक की ही शिक्षा ली हैं।

सरकार में मंत्री विजय कुमार चौधरी पटना विश्वविद्यालय से पोस्ट ग्रेजुएट (MA) पास हैं तो अशोक चौधरी ने मगध विश्वविद्यालय से पीएचडी की है। शीला देवी और जिबेश कुमार दोनों ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय दरभंगा से एमए तक की शिक्षा प्राप्त की है। अमरेंद्र प्रताप सिंह मगध विश्वविद्यालय से साइंस में ग्रेजुएट हैं। एक अन्य मंत्री बिजयेंद्र सिंह यादव ने सिर्फ उच्चतर माध्यमिक तक की ही शिक्षा ली है।

मंत्रीमंडल में वरिष्ठ मंत्री डॉ. मेवालाल चौधरी उच्च शिक्षित हैं। उन्होंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से पीएचडी की है। गठबंधन में शामिल विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के नेता मुकेश सहनी भी मंत्री बनाए गए है्ं, हालांकि वे चुनाव हार गए हैं। मुकेश सहनी की शिक्षा काफी कम है। वह मैट्रिक भी पास नहीं है, जबकि रामसूरत कुमार भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय से स्नातक हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बीच में तोते जैसे बोलने क्यों लगते हैं?- अमीष देवगन से बोलीं कांग्रेस नेता तो एंकर का जवाब- आपको कोई कहता तो…
2 दिल्ली में COVID-19 से हाहाकार! नहीं लगेगी ‘पूर्ण बंदी’, पर छोटे स्तर पर लग सकता है लॉकडाउन, जानें क्या है CM केजरीवाल का प्लान
3 दिवाली पर पटाखों से बुरी तरह झुलस गई थी BJP सांसद की 6 साल की पोती, अब इलाज के दौरान तोड़ा दम, जानें क्या हुआ था उस रात
यह पढ़ा क्या?
X