ताज़ा खबर
 

आगरा में घूस लेते अफसर को दबोचा, दस्तावेजों की खानापूर्ति के नाम पर मांग रहा था रुपए

कंठ तक भ्रष्टाचार में डूबे शिक्षा विभाग के उपनिदेशक का काला चेहरा सामने आ गया। पेंशन और फंड के नाम पर रिटायर शिक्षकों से रिश्वत मांगने वाले उपनिदेशक को सतर्कता टीम ने रंगे हाथ दबोच लिया..

Author August 5, 2015 6:18 PM

कंठ तक भ्रष्टाचार में डूबे शिक्षा विभाग के उपनिदेशक का काला चेहरा सामने आ गया। पेंशन और फंड के नाम पर रिटायर शिक्षकों से रिश्वत मांगने वाले उपनिदेशक को सतर्कता टीम ने रंगे हाथ दबोच लिया। उपनिदेशक की गिरफ्तारी के बाद कार्यालय में खलबली मच गई। दागी कर्मचारी कार्रवाई के भय से दबे पांच खिसक गए। सूचना मिलने पर पुलिस पहुंच गई और उपनिदेशक को थाने ले आई। खबर मिलने पर शिक्षा विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंच गए।

लॉयर्स कॉलोनी में शिक्षा विभाग के पेंशन, फंड उपनिदेशक आरएस प्रजापति का कार्यालय है। तीन जून को सेवानिवृत्त हुए कलाल खेरिया निवासी शिक्षक सुरेश चंद को पेंशन और फंड एक महीने बाद भी नहीं मिल सका है। अधिकारियों के अनुसार सुरेश चंद ने सभी औपचारिकताएं पूरी कर दी, लेकिन घूसखोरी के फेर में उपनिदेशक फाइल को आगे नहीं बढ़ा रहे थे। कारण जानने के बाद सौदा तय हो गया, इसके बाद सुरेश चंद ने सतर्कता अधिकारियों से संपर्क किया और घूसखोरी की शिकायत दर्ज कराई। इस पर सतर्कता टीम सक्रिय हो गई।

मंगलवार को सुरेश चंद उपनिदेशक कार्यालय पहुंचे और अधिकारी को रिश्वत के 15 हजार रुपए थमा दिए, कुछ देर बाद टीम दाखिल हुई और प्रजापति को रिश्वत लेने के आरोप में दबोच लिया। कार्यालय में मौजूद अधिकारियों को जानकारी हुई तो होश उड़ गए और दबे पांच खिसक लिए। पूछताछ के बाद उपनिदेशक ने रिश्वत से इनकार कर रहा था, लेकिन थाने लाकर हाथ धुलवाए गए तो लाल पड़ गए। घूस लेते अधिकारी के पकड़े जाने की खबर शिक्षा विभाग में चंद मिनटों में फैल गई और मौके पर तमाम अधिकारी और कर्मचारी पहुंच गए। देर रात अधिकारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया गया था।

पीड़ित शिक्षक पहुंचे थाने: घूसखोरी के चलते परेशान तमाम पीड़ित सेवानिवृत शिक्षक थाने पहुंच गए और अधिकारी के बारे में काफी भला-बुरा कहा। रिटायर शिक्षकों का कहना था कि अधिकारी बिना घूस लिए कोई काम नहीं करता था। इसके चलते सरकारी काम काफी दिनों तक लटके रहते थे। मंगलवार को एक शिक्षक काम कराने के लिए रकम लेकर पहुंचा, उसे रिश्वतखोर के पकड़े जाने की जानकारी हुई तो वह भी थाने जा पहुंचा।

रिश्वतखोरी के आरोप में पूर्व में शिक्षा विभाग का लेखाधिकारी और अवधपुरी चौकी इंचार्ज हत्थे चढ़ चुके हैं। अब शिक्षा विभाग के उपनिदेशक के पकड़े जाने से विभाग में खलबली मची हुई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App