ताज़ा खबर
 

सुशांत सिंह राजपूत केस में मनी लॉन्ड्रिंग का शक, ईडी ने शुरू की जांच, बिहार पुलिस से मांगी FIR की कॉपी

एजेंसी ने बिहार पुलिस को पत्र लिखकर सुशांत सिंह राजपूत के मामले में दर्ज प्राथमिकी की कॉपी मांगी है। जिसके बाद धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज किया जा सकता है।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: July 31, 2020 8:51 AM
Sushant Singh Rajput, SC on Sushant Singh Rajpur, Sushant's father plea in SC, Rhea chakraborty, ED on Sushant Singh Rajput, ED PMLA case Sushant Singh Rajputईडी को सुशांत सिंह राजपूत केस में मनी लॉन्ड्रिंग का शक है। (file)

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की गुत्थी अबतक नहीं सुलझी है। लेकिन इस केस में रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं। अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इसकी जांच शुरू की है। ईडी को इस केस में मनी लॉन्ड्रिंग का शक है। एजेंसी ने बिहार पुलिस को पत्र लिखकर सुशांत सिंह राजपूत के मामले में दर्ज प्राथमिकी की कॉपी मांगी है। जिसके बाद धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज किया जा सकता है।

25 जुलाई को पटना पुलिस स्टेशन में दर्ज एफआईआर में सुशांत के पिता के के सिंह ने अभिनेता रिया चक्रवर्ती और पांच अन्य को उनकी मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि रिया और अन्य आरोपियों ने सुशांत के पैसे ऐंठे हैं। 34 साल के सुशांत ने 14 जून को मुंबई में बांद्रा स्थित अपने अपार्टमेंट में आत्महत्या कर ली थी। एफ़आईआर में, सुशांत के पिता ने आरोप लगाया है कि सुशांत के बैंक अकाउंट से 15 करोड़ रुपये किसी दूसरे अकाउंट में ट्रांसफर हुए हैं। यह खाता किसका है अभी इसका खुलासा नहीं हुआ है।

के के सिंह ने रिया पर सुशांत को दवाई का ओवरडोज देने का आरोप भी लगाया है, सिंह ने कहा पूछने पर रिया ने झूठ बताया कि सुशांत को डेंगू हो गया है। सूत्रों के मुताबिक ईडी इस बात की जांच करेगा कि क्या राजपूत का धन अवैध तरीके से छीना गया है और मनी लॉन्ड्रिंग की जांच के लिए FIR का एनालिसिस करेगी।

एफ़आईआर आईपीसी धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाना), 341(जबरन नियंत्रण में रखना), 342 (गलत इरादों से बांधे रखना), 380 (आवास गृह में चोरी), 406 (आपराधिक विश्वासघात) और 420 (धोखाधड़ी) के तहत दर्ज की गई है। इनमें से धोखाधड़ी का अपराध PMLA के तहत विधेय अपराधों की श्रेणी में आता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चीनी चाल के खिलाफ टूरिज्म को सरकार बनाना चाह रही सुरक्षा ढाल, उत्तराखंड के गंगोत्री इलाके में चीन से सटे गांवों में पर्यटन को बढ़ावा
2 चीन की कथनी और करनी में फर्क़, विदेश मंत्रालय के हटने के ऐलान के बावजूद पैंगोंग त्सो और गोगरा प्वाइंट में डटी है चीनी सेना
3 31 जुलाई का इतिहास : महात्मा गांधी के साबरमती आश्रम छोड़ने और प्रेमचंद के जन्म सहित और क्या दर्ज है आज के दिन
ये पढ़ा क्या?
X