ताज़ा खबर
 

वृद्धि की राह पर लौटी अर्थव्यवस्था, अक्तूबर-दिसंबर में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 0.4 फीसद की बढ़त

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार आलोच्य तिमाही में कृषि क्षेत्र में 3.9 फीसद और विनिर्माण क्षेत्र में 1.6 फीसद की वृद्धि हुई है।

Author दिल्ली | Updated: February 27, 2021 4:49 AM
gdp, indiaदेश की अर्थव्यवस्था में सुधार की उम्मीद दिखी। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

देश की अर्थव्यवस्था वृद्धि के रास्ते पर आ गई है। कृषि, सेवा और निर्माण क्षेत्रों के बेहतर प्रदर्शन के कारण चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही अक्तूबर-दिसंबर में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 0.4 फीसद की वृद्धि हुई है। इससे पहले, कोरोना वायरस महामारी और उसकी रोकथाम के लिए लागू की गई पूर्णबंदी के बीच लगातार दो तिमाहियों में अर्थव्यवस्था में गिरावट दर्ज की गई थी।

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार आलोच्य तिमाही में कृषि क्षेत्र में 3.9 फीसद और विनिर्माण क्षेत्र में 1.6 फीसद की वृद्धि हुई है। निर्माण क्षेत्र में 6.2 फीसद जबकि बिजली, गैस, जल आपूर्ति और अन्य उपयोगी सेवाओं में 7.3 फीसद की वृद्धि दर्ज की गई है।

एनएसओ के अनुसार, ‘चालू वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में स्थिर मूल्य (2011-12) पर जीडीपी 36.22 लाख करोड़ रुपए रही जो इससे पूर्व वित्त वर्ष 2019-20 की इसी तिमाही में 36.08 लाख करोड़ रुपए थी। यानी जीडीपी में 0.4 फीसद की वृद्धि हुई है।’ वित्त वर्ष 2019-20 की तीसरी तिमाही में अर्थव्यवस्था में 3.3 फीसद की वृद्धि हुई थी।

वित्त मंत्रालय ने कहा कि दिसंबर तिमाही में 0.4 फीसद की वृद्धि यह बताती है कि अर्थव्यवस्था महामारी के पूर्व स्तर पर आ गई है और पुनरुद्धार का ग्राफ आने वाले समय में तीव्र गति से उठेगा।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी तिमाही में वास्तविक जीडीपी में 0.4 फीसद की वृद्धि से संकेत मिलता है कि अर्थव्यवस्था महामारी पूर्व के वृद्धि के रास्ते पर लौट आई है। यह पहली तिमाही में जीडीपी में बड़ी गिरावट के बाद दूसरी तिमाही में शुरू तीव्र गति से पुनरुद्धार के और मजबूत होने को प्रतिबिंबित करता है।

कोरोना वायरस महामारी के बीच भारतीय अर्थव्यवस्था में चालू वित्त वर्ष में लगातार दो तिमाही में गिरावट के बाद तीसरी तिमाही अक्तूबर-दिसंबर में 0.4 फीसद की वृद्धि हुई है। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के शुक्रवार को जारी आंकड़े में यह जानकारी दी गई है। इससे पूर्व वित्त वर्ष 2019-20 की इसी तिमाही में अर्थव्यवस्था में 3.3 फीसद की वृद्धि हुई थी। एनएसओ के राष्ट्रीय लेखा के दूसरे अग्रिम अनुमान में 2020-21 में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 8 फीसद की गिरावट का अनुमान जताया गया है। जनवरी में एनएसओ ने चालू वित्त वर्ष 2020-21 में अर्थव्यवस्था में 7.7 फीसद की गिरावट का अनुमान जताया था।

Next Stories
1 नीरव की कैद के लिए जेल में बनी विशेष कोठरी, गद्दा, रजाई, बेडशीट और तकिया के साथ तीन वर्गमीटर जगह दी जाएगी
2 पेट्रोल 100₹ पार होने पर बांटी मिठाई, कहा- मोदी जी ने इतिहास रच दिया; बिहार में अलग अंदाज में हुआ महंगाई का विरोध
3 AIMIM को मोदी-शाह बहुत पंसद, बंगाल में अलग रैली की क्या ज़रूरत- डिबेट में बोले पैनलिस्ट
ये पढ़ा क्या?
X