ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार के मंत्री मेघवाल का दावा- ऑटो सेक्टर की समस्या छोटी, सुलझा लिया जाएगा

भारी उद्योग एवं सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम राज्य मंत्री मेघवाल ने भारतीय वाहन कलपुर्जा विनिर्माता संघ (एसीएमए) के वार्षिक सम्मेलन में कहा कि वाहन उद्योग की समस्या को "सुलझा" लिया जाएगा।

Author नई दिल्ली | September 7, 2019 12:14 PM
केंद्रीय मंत्री मेघवाल ने कहा वाहन क्षेत्र की समस्या ”छोटी”, जल्द सुलझा ली जायेगी। (PTI Photo)

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने शुक्रवार को कहा कि यदि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार अनुच्छेद 370 के कुछ प्रावधानों को निष्प्रभावी करने के लिए संसद सत्र बढ़ा सकती हैं तो वाहन क्षेत्र की दिक्कत दूर करना “छोटी” चीज है। भारी उद्योग एवं सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम राज्य मंत्री मेघवाल ने भारतीय वाहन कलपुर्जा विनिर्माता संघ (एसीएमए) के वार्षिक सम्मेलन में कहा कि वाहन उद्योग की समस्या को “सुलझा” लिया जाएगा।

मेघवाल ने कहा, “जब लोकसभा चल रही थी और अनुच्छेद 370 पर फैसला नहीं हुआ था तो कई सांसद मेरे पास आते और पूछते थे कि क्या सत्र को आगे बढ़ाया जायेगा।’’ उन्होंने कहा कि सांसद संसद सत्र की अवधि आगे बढ़ाये जाने के इच्छुक नहीं थे। केंद्रीय मंत्री ने वाहन उद्योग के प्रतिनिधियों को भरोसा दिया, “जब हम संसद का सत्र आगे बढ़ाकर अनुच्छेद 370 जैसी पुरानी समस्या को दूर कर दिया तो आपकी समस्या तो बहुत छोटी है। चिंता मत करें आपकी समस्या को भी जल्द सुलझा लिया जाएगा।”

वाहन उद्योग करीब एक साल से मुश्किलों से गुजर रहा है और उसने सरकार से समर्थन देने की मांग की है। इसमें वाहनों पर जीएसटी की दर को 28 प्रतिशत से 18 प्रतिशत करना भी शामिल है। उन्होंने जोर देकर कहा, “हम आपकी दिक्कतों को वित्त मंत्री, प्रधानमंत्री के समक्ष उठाएंगे। जब मोदीजी देश की अर्थव्यवस्था को 5,000 अरब डॉलर पर पहुंचाने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं तो आपकी दिक्कतों को दूर किया जाएगा। आप चिंता मत कीजिये।” मेघवाल ने कहा कि सरकार वाहन उद्योग को निर्यात प्रोत्साहन देने की संभावना पर भी विचार करेगी।

Next Stories
1 मदर डेयरी के बाद Amul भी बढ़ाएगी गाय के दूध के दाम? कंपनी ने दिया यह जवाब
2 मद्रास हाई कोर्ट की महिला चीफ जस्टिस ने दिया इस्तीफा, सुप्रीम कोर्ट कोलिजयम के फैसले पर विवाद
3 Chandrayaan 2: दिल तोड़ने वाली खबर, लैंडर ‘विक्रम’ से संपर्क की उम्मीद न के बराबर!
ये पढ़ा क्या?
X