ताज़ा खबर
 

जनसत्ता विशेष: स्टार्टअप की सफलता के लिए जरूरी है बेहतर टीम और दूरदर्शिता

90 फीसद स्टार्टअप शुरू होने के बाद बंद हो जाते हैं क्योंकि वे कुछ आधारभूत चीजों को लेकर गलती कर देते हैं और कम समय में ही सफल होना चाहते हैं। इसलिए हमने अपना स्टार्टअप दूरदर्शिता के साथ शुरू किया। इस स्टार्टअप को सफल बनाने के लिए हमारे पास एक बेहतरीन टीम है जो दिन रात काम करती है। और सबसे जरूरी हमें अब कुछ फंड भी मिल रहा है जिससे भविष्य में हम अपनी सेवाएं और शहरों में भी दे पाएंगे।

ईजी टू लिव के संस्थापक कुलदीप त्रिपाठी।

आइआइटी रुड़की से स्नातकोत्तर करने वाले कुलदीप त्रिपाठी के बनाए ‘ईजी टू लिव डॉट कॉम’ प्लेटफॉर्म से पूर्णबंदी के इस दौर में उत्तर प्रदेश के संतकबीर नगर और गोरखपुर में लोगों के घरों तक आवश्यक चीजों की आपूर्ति की जा रही है। दोनों जिलों के जिलाधिकारी भी कुलदीप के इस प्रयास से खुश हैं। कुलदीप बंगलुरु में एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं और अपने आइआइटी के दोस्तों के साथ मिलकर उन्होंने यह प्लेटफॉर्म तैयार किया है। पेश हैं उनसे बातचीत के प्रमुख अंश…

सवाल : ‘ईजी टू लिव’ का विचार कैसे आया?
कुलदीप : मैं एक साल पहले बंगलुरु के एक अपार्टमेंट में रहता था, जहां रोजमर्रा की चीजें खरीदने में बहुत परेशानी होती थी। वहीं, मौजूदा आनलाइन प्लेटफॉर्म आर्डर वाले दिन सामान नहीं पहुंचाते थे। इस समस्या के समाधान के रूप में यह प्लेटफॉर्म सामने आया। हम आर्डर वाले दिन ही लोगों तक उनका सामान पहुंचा देते हैं। मुझे बहुत खुशी है कि जब देश कोरोना के संकट से जूझ रहा है तो ईजी टू लिव के माध्यम से हमारी टीम भी संतकबीर नगर और गोरखपुर के लोगों की सेवा कर पा रहे हैं। वहां के लोग भी हमारी सेवाओं से काफी खुश हैं।

सवाल : स्टार्टअप शुरू करने में कौन सी से समस्याएं आईं?
कुलदीप : इस प्लेटफॉर्म को शुरू करने में हमारे सामने सबसे पहले तकनीक को लेकर समस्या आई। इसके लिए हमारी टीम में बीस-बीस घंटे लगातार काम किया है। इसके अलावा फंड और जमीन पर काम करने वाली टीम को लेकर भी हमारे समाने परेशानियां आईं लेकिन हमारी टीम ने इन समस्याओं का भी हल निकाल ही लिया।

सवाल : एक बेहतर स्टार्टअप शुरू करने के लिए किन बातों को ध्यान में रखना जरूरी है?
कुलदीप : 90 फीसद स्टार्टअप शुरू होने के बाद बंद हो जाते हैं क्योंकि वे कुछ आधारभूत चीजों को लेकर गलती कर देते हैं और कम समय में ही सफल होना चाहते हैं। इसलिए हमने अपना स्टार्टअप दूरदर्शिता के साथ शुरू किया। इस स्टार्टअप को सफल बनाने के लिए हमारे पास एक बेहतरीन टीम है जो दिन रात काम करती है। और सबसे जरूरी हमें अब कुछ फंड भी मिल रहा है जिससे भविष्य में हम अपनी सेवाएं और शहरों में भी दे पाएंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जनसत्ता विशेष: साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में है बेहतर भविष्य
2 Video: तबलीगी जमात वाले बम बन कर न‍िकल रहे, डंडों से इनका इलाज हो- एमएच खान का हमला
3 Corona से लड़ाई: यूपी के 15 जिलों के 104 हॉटस्पॉट सील, यहां देखें पूरी लिस्ट