ताज़ा खबर
 

दिल्ली में 2.1 तीव्रता के भूकंप के झटके, चंद सेकेंड्स तक कांपी धरती

वैसे, राहत की बात यह है कि इन झटकों की वजह से फिलहाल किसी प्रकार के जान-माल के नुकसान की खबर नहीं है।

भूकंप के झटके दिल्ली के अन्य हिस्सों में महसूस नहीं किए गए। (पीटीआई फाइल फोटो)

दिल्ली में रविवार (20 जून, 2021) दोपहर हल्का भूकंप आया। पंजाबी बाग इलाके में ये भूकंप के झटके महसूस किए गए। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के मुताबिक, दोपहर 12 बजकर दो मिनट पर 2.1 रिक्टर स्केल के झटके आए थे।

झटकों के दौरान कुछ सेकेंड्स तक धरती कांपी। इस दौरान इलाके में कई लोग घबराकर घर से बाहर निकल आए, जबकि कुछ ने इस बारे में परिजन और अन्य जगह से जानकारी हासिल करने की कोशिश की। वैसे, राहत की बात यह है कि इन झटकों की वजह से फिलहाल किसी प्रकार के जान-माल के नुकसान की खबर नहीं है। राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र ने बताया कि भूकंप का केंद्र पंजाबी बाग इलाके में सात किलोमीटर की गहराई पर था।

बता दें कि भूकंप के लिहाज से जो पांच सेस्मिक जोन हैं, उनमें दिल्ली शहर चौथे जोन के तहत आता है। हालांकि, ऐसा कम ही हुआ है, जब राष्ट्रीय राजधानी किसी भूकंप का केंद्र रहा हो। हाई सेस्मिक जोन के तहत आने वाले मध्य एशिया या फिर हिमायलन रेंज में भूकंप आने के दौरान भी इस क्षेत्र में पूर्व में झटके आ चुके हैं।

दिल्ली के नजदीक जो अब तक के प्रमुख भूकंप के झटके आए थे, वे 10 अक्टूबर 1956 को आए थे। यूपी के बुलंदशहर में तब 6.7 तीव्रता के झटके महसूस किए गए थे, जबकि 15 अगस्त 1966 को मुरादाबाद में 5.8 तीव्रता से धरती कांपी थी। ये दोनों ही शहर पश्चिमी यूपी में आते हैं।

अरुणाचल, मणिपुर में भी एक के बाद एक झटकेः दिल्ली से पहले देश के उत्तर पूर्वी हिस्से में सुबह के वक्त भूकंप के एक के बाद एक कुछ झटके महसूस किए गए। इनकी तीव्रता 3.1 से 3.6 रिएक्टर स्केल के बीच बताई गई। भूकंप के झटके मणिपुर और अरुणाचल में महसूस किए गए। हालांकि, वहां भी किसी प्रकार के जान-माल के नुकसान की खबर नहीं है।

Next Stories
1 कांग्रेस में लोकतंत्र है कहां? आखिरी बार तो नरसिम्हा के वक्त हुए थे चुनाव- बोले पत्रकार, देखें- क्या आया शत्रुघ्न का जवाब
2 हम हों या कांग्रेस, पेट्रोल-डीज़ल की महंगाई विपक्ष का हथियार रहा है और यह ठीक भी है- जदयू प्रवक्ता बोले
3 भला यह भी कोई सफलता है, हद है! रवीश कुमार ने मोदी सरकार पर साधा निशाना तो विरोधियों ने मारा ताना
ये पढ़ा क्या ?
X