ताज़ा खबर
 

जबरदस्त भूकंप से उत्तर भारत थरथराया, रिक्टर स्केल पर तीव्रता 7.7

नई दिल्ली और एनसीआर में भूकंप के तेज़ झटके महसूस किए गए हैं।

Author श्रीनगर/नई दिल्ली | October 26, 2015 5:26 PM
दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत और पाकिस्तान में भूकंप के तेज़ झटके (फोटो स्रोत: ट्विटर)

रिक्टर पैमाने पर 7.5 तीव्रता के एक जबरदस्त भूकंप से समूचा उत्तर भारत थरथरा गया। भूकंप का झटका तकरीबन एक मिनट तक महसूस किया गया और दहशतजदा लोग अपने घरों एवं इमारतों से बाहर निकल आए।

भूकंप का यह झटका अपराह्न तकरीबन दो बज कर 40 मिनट पर आया जिसका केन्द्र अफगानिस्तान में हिंदुकुश पर्वत श्रंखला में स्थित था। इससे देश में जम्मू-कश्मीर, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली, पंजाब, उत्तराखंड और राजस्थान जैसे अनेक राज्यों में झटके महसूस किए गए।

भूकंप से जमीन हिलने लगी और खौफजदा लोग अपने घरों तथा दफ्तरों से बाहर निकल गए। राष्ट्रीय राजधानी में थोड़ी देर के लिए मेट्रो सेवा रोक दी गई। बहरहाल, अभी तत्काल जान-माल की किसी क्षति की कोई रिपोर्ट नहीं है।

भारत में राजस्थान, उत्‍तर प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और पंजाब में भूकंप के झटके महसूस किए गए। लोग घरों और दफ्तरों से बाहर निकल गए।

भूकंप की वजह से भारत के कई शहरों में कुछ देर के लिए फोन सेवा बाधित हो गई।

श्रीनगर में, निवासियों ने बताया कि इमारतें ‘‘हिलने-डोलने’’ लगीं जिसने 2005 के विनाशकारी भूकंप की याद दिला दी। राष्ट्रीय भूकंपविज्ञान केन्द्र के अनुसार भूकंप का केन्द्र हिंदूकुश पर्वत श्रंखला में था जो भूकंप के लिए अत्यंत संवेदनशील है। भूकंप 190 किलोमीटर की गहराई में आया।

इसके तुरंत बाद, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि उन्होंने भूकंप के मद्देनजर हालात का फौरी आकलन करने को कहा है। उन्होंने अफगानिस्तान और पाकिस्तान को मदद की पेशकश की। मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘अफगानिस्तान-पाकिस्तान क्षेत्र में जबरदस्त भूकंप के बारे में सुना है जिसके झटके भारत के हिस्सों में महसूस किए गए। मैं सभी की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करता हूं।’’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘मैंने तत्काल आकलन के लिए कहा और अफगानिस्तान तथा पाकिस्तान समेत जहां जरूरत हो, हम मदद के लिए तैयार हैं।’’

अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर से 55 किलोमीटर दूर सोपोर में भूकंप के असर से सेना का एक बंकर ढह गया। इससे दो सैन्यकर्मी घायल हो गए। उन्होंने बताया कि गंजू हाउस के अंदर बंकर ढह गया जहां एक सैन्य इकाई शिविर डाले थी। इससे दो सैन्यकर्मी घायल हो गए जिन्हें अस्पताल ले जाया गया।

अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर के जहांगीर चौक में फ्लाइओवर में भी दरार आ गई। इसके मद्देनजर प्रशासन को उसपर से यातायात निलंबित करना पड़ा। इस बीच, चंडीगढ़ से मिली रिपोर्टों में बताया गया है कि भूकंप के कारण दूरसंचार में थोड़ी देर के लिए बाधा आई। भूकंप के प्रभाव के कारण चारपाइयां, कुर्सियां, पंखे, लालटेन और अन्य चीजें हिलने-डोलने लगीं थी।

Also Read: पाकिस्तान में भूकंप से 64 की मौत, रिक्टर स्केल पर तीव्रता 7.7 

अमृतसर की एक निवासी रितु नागरा ने बताया, ‘‘मैं कुर्सी पर बैठी थी और अचानक जमीन हिलने लगी और मैं लगभग गिर पड़ी।’’ चंडीगढ़ के निवासी सुधीर गुप्ता ने बताया, ‘‘मैं समझा कि मैं बीमार हूं क्योंकि अचानक मैंने अपना सिर घूमता हुआ और धड़कन बढ़ती महसूस की।’’ अनेक लोगों ने बताया कि भूकंप के तुरंत बाद उनके सेलफोन ने काम करना बंद कर दिया। इसी तरह की रिपोर्टें अमृतसर, फगवाड़ा, जालंधर, पटियाला, फरीदकोट, गुरदासपुर, लुधियाना और मोहाली समेत पंजाब के विभिन्न हिस्सों से मिलीं।

Also Read: हिला भारत और पाकिस्तान, देखें भूकंप के VIDEOS और PHOTOS  निवासियों के अनुसार जानवरों और परिंदों ने, खास तौर पर कुत्तों ने असामान्य ढंग से व्यवहार करना शुरू कर दिया था। इस भूकंप ने भारत-पाकिस्तान क्षेत्र में आठ अक्तूबर 2005 को आए जबरदस्त भूकंप की याद दिला दी। उस भूकंप में भारत में 1400 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी। तब बारामुला जिला इसका सबसे ज्यादा शिकार हुआ था। उरी तहसील के तकरीबन सभी ढांचे ध्वस्त हो गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App