ताज़ा खबर
 

भारत लौटी उजमा ने सुनाई आपबीती, कहा- पाकिस्तान मौत का कुआं, जहां जाना आसान लेकिन निकलना मुश्किल

उन्होंने भारतीय उच्चायोग के अधिकारी जेपी सिंह से बात की और उनसे कहा कि यह मेरी बेटी है... भारत की बेटी है... देश की बेटी को चाहे जैसे भी हो बचाना है।

पाकिस्तान से भारत वापस लौटी उजमा। (ANI Photo)

पाकिस्तान में फंसी भारतीय महिला उजमा गुरुवार को स्वदेश लौट आईं। भारत आते ही उन्होंने सबसे पहले देश की माटी को चूमा। स्वदेश लौटने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उजमा अहमद के परिवार से मुलाकात की। मुलाकात के बाद विदेश मंत्री ने उजमा के साथ ज्वाइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस की। प्रेस कॉन्फ्रेंस में उजमा ने पाकिस्तान में अपने साथ हुए बर्ताव के बारे में बताया। उजमा ने कहा कि मेरे लिए आज खुशी का दिन है। उन्होंने इस दिन के लिए सुषमा का शुक्रिया अदा करते हुए कहा, “विदेश मंत्री से मुझे बहुत सहयोग मिला। उन्होंने भारतीय उच्चायोग के अधिकारी जेपी सिंह से बात की और उनसे कहा कि यह मेरी बेटी है… भारत की बेटी है… देश की बेटी को चाहे जैसे भी हो बचाना है।” उजमा ने कहा कि उन्हें भारत की बेटी होने का गर्व है। मैंने भारत आकर खुली सांस ली।

उजमा ने अपनी आपबीती सुनाते हुए कहा, “मैं पाकिस्तान सिर्फ घूमने के लिए गई थी। वहां के लोग बहुत अलग हैं। ताहिर ने मुझे डराया और बेटी को किडनैप करने की धमकी देकर साइन करा लिए थे।” उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान जाना आसान है, लेकिन पाकिस्तान से आना बहुत मुश्किल है। पाकिस्तान में आदमी भी सुरक्षित नहीं तो महिला का क्या हाल होता होगा। पाकिस्तान मौत का कुआं है, वहां जाना आसान है, लेकिन निकलना मुश्किल है। मैं सुषमा मैम और भारतीय उच्चायोग के अधिकारी का धन्यवाद करना चाहती हूं। मैं अनाथ हूं, पहली बार मुझे अहसास हुआ कि मेरी जिंदगी कीमती है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि उजमा आज पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय और गृह मंत्रालय के सहयोग की वजह से यहां है। मैं उजमा का केस लड़ने वाले शहनावाज नून का धन्यवाद करना चाहती हूं, जिन्होंने पिता की तरह उसका केस लड़ा।

उजमा ने आरोप लगाया था कि उनकी एक पाकिस्तानी से जबरन शादी करवाई गई थी। इसके बाद उजमा ने भारतीय उच्चायोग की शरण ली थी और फिर यह मामला इस्लामाबाद हाईकोर्ट पहुंच गया। उजमा ने भारत वापस लौटने के लिए इस्लामाबाद हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए उसे भारत वापस जाने की अनुमति दे दी। कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिए थे कि वह उजमा को वाघा बॉर्डर तक सुरक्षा मुहैया कराए। कोर्ट में उजमा को उसके असली इमिग्रेशन दस्तावेज लौटा दिए, जिसे मंगलवार को उसके पति ताहिर ने कोर्ट में जमा कराए थे। कोर्ट से मंजूरी मिलने के बाद उजमा गुरुवार को भारत लौटीं।

भारत लौटीं उजमा, पाकिस्तान में जबरन कराई गई थी शादी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App