ताज़ा खबर
 

दोहरी नागरिकता मद्दे पर राहुल ने समिति के फैसले पर उठाया सवाल

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी दोहरी नागरिकता के मुद्दे पर लोकसभा की एक समिति की ओर से भेजे गए नोटिस का जवाब दाखिल कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक जवाब में राहुल ने एक ऐसी शिकायत का संज्ञान लेने के समिति के फैसले पर सवाल उठाए, जो सही नहीं थी।

Author नई दिल्ली | April 1, 2016 02:03 am
.(Express photo)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी दोहरी नागरिकता के मुद्दे पर लोकसभा की एक समिति की ओर से भेजे गए नोटिस का जवाब दाखिल कर दिया है। सूत्रों के मुताबिक जवाब में राहुल ने एक ऐसी शिकायत का संज्ञान लेने के समिति के फैसले पर सवाल उठाए, जो सही नहीं थी। उन्होंने भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी को भी इस बात की चुनौती दी कि वे उनका ब्रिटिश पासपोर्ट नंबर और अन्य संबंधित दस्तावेज सार्वजनिक करें।

भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी की अध्यक्षता वाली आचार समिति की ओर से भेजे गए नोटिस के जवाब में राहुल ने यह भी कहा कि शिकायतकर्ता ने इस मुद्दे पर सरासर गुमराह किया है। समिति सचिवालय को 23 मार्च को दिए गए अपने जवाब में कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा- मुझे हैरत हो रही है कि आचार समिति ने एक ऐसी शिकायत का संज्ञान लिया जो सही नहीं है। यह मुझे बदनाम करने की कोशिश है। मैंने न तो कभी ब्रिटिश नागरिकता मांगी है और न ही कभी ली है। मेरी पहचान एक भारतीय की है।

इस मामले से करीबी तौर पर जुड़े सूत्रों के मुताबिक राहुल ने मांग की कि शिकायतकर्ता अपना आरोप साबित करने के लिए सबूत पेश करें और अपनी दलीलों के समर्थन में एक हलफनामा दाखिल करे। राहुल ने कहा- अपनी दलील के समर्थन में वे जिस दस्तावेज पर भरोसा कर रहे हैं उसमें कहीं नहीं लिखा है कि मैंने खुद को कभी ब्रिटिश नागरिक घोषित किया है। उन्होंने कहा कि यह साफ हो चुका है कि शिकायतकर्ता ने सरासर गुमराह किया है।

बकौल राहुल नागरिकता एक तथ्य होती है और अगर उन्होंने कभी ब्रिटिश नागरिकता मांगी या हासिल की तो वह ब्रिटिश गृह कार्यालय के आधिकारिक दस्तावेजों का हिस्सा होगी। शिकायत दर्ज कराने से पहले स्रोत से तथ्य का पता लगाया जा सकता था। सूत्रों ने नोटिस पर राहुल की ओर से दाखिल किए गए जवाब के हवाले से बताया- मैं श्री स्वामी से अनुरोध करता हूं कि वे राहुल गांधी के कथित ब्रिटिश पासपोर्ट नंबर और संबंधित दस्तावेजों को सार्वजनिक कर उनके ब्रिटिश नागरिक होने के सबूत सामने लाएं।

आडवाणी की अध्यक्षता वाली आचार समिति ने मार्च के दूसरे हफ्ते में राहुल को नोटिस जारी कर उस आरोप पर उनका जवाब मांगा था जिसमें कहा गया था कि कांग्रेस उपाध्यक्ष ने ब्रिटेन की एक कंपनी में निदेशक का पद हासिल करने के लिए खुद को ब्रिटिश नागरिक घोषित किया था। इससे पहले जनवरी के पहले हफ्ते में लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भाजपा सांसद महेश गिरि द्वारा की गई शिकायत को आचार समिति के पास भेज दिया था। गिरि ने अपनी पार्टी के सहकर्मी सुब्रमण्यम स्वामी के इस आरोप की उचित जांच का अनुरोध किया था जिसमें कहा गया था कि ब्रिटेन में एक कंपनी बनाने के लिए राहुल ने खुद को ब्रिटिश नागरिक घोषित किया था। स्वामी ने पिछले साल नवंबर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी पत्र लिख कर राहुल की नागरिकता पर सवाल उठाए थे।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App