scorecardresearch

डीयू : स्नातकोत्तर हिंदी पत्रकारिता डिप्लोमा में प्रवेश शुरू

हिंदी पत्रकारिता डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश योग्यता और साक्षात्कार के आधार पर होता है।

डीयू : स्नातकोत्तर हिंदी पत्रकारिता डिप्लोमा में प्रवेश शुरू
सांकेतिक फोटो।

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) के दक्षिण परिसर में एक वर्षीय स्नातकोत्तर हिंदी पत्रकारिता डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश की प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है। इस पाठ्यक्रम में आवेदन करने की अंतिम तिथि 19 अगस्त, 2022 है। इस पाठ्यक्रम का संचालन दिल्ली विश्वविद्यालय दक्षिण परिसर का हिंदी विभाग करता है। हिंदी पत्रकारिता डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश योग्यता और साक्षात्कार के आधार पर होता है।

इच्छुक अभ्यर्थी दिल्ली विश्वविद्यालय की वेबसाइट से आवेदन प्रपत्र डाउनलोड कर सकते हैं। आवेदन प्रपत्र भरकर डाक द्वारा विभाग के पते पर भेजना होगा। किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक में 50 फीसद अंक प्राप्त करने वाला अभ्यर्थी इस पाठ्यक्रम के लिए आवेदन कर सकता है। अभ्यर्थी की उम्र एक जुलाई, 2022 तक कम से कम 20 साल होनी चाहिए। आवेदन प्रपत्र के साथ 450 रुपए का डिमांड ड्राफ्ट (मांग पत्र) लगाना होगा। प्रवेश के लिए स्नातक में प्राप्त अंकों को 80 फीसद और साक्षात्कार को 20 फीसद फीसद दिया जाएगा। अधिक जानकारी के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय की वेबसाइट देखें।

आइआइटी मद्रास ने प्रोग्रामिंग व डेटा साइंस में बीएससी पाठ्यक्रम के तहत अब चार साल की बीएससी डिग्री लेने का विकल्प दिया
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) मद्रास ने प्रोग्रामिंग और डेटा साइंस में बीएससी के साथ अब डेटा साइंस और एप्लिकेशन में चार साल की बीएससी डिग्री का विकल्प दिया है। विद्यार्थी काफी समय से इसकी मांग कर रहे थे। बीएससी स्तर पर विद्यार्थी कंपनियों या शोध संस्थानों में आठ महीनों की अप्रेंटिसशिप (शिक्षुता) या प्रोजेक्ट कर सकते हैं।

यह पाठ्यक्रम इस तरह डिजाइन किया गया है कि विद्यार्थियों को कई बार प्रवेश और निकास का विकल्प मिले ताकि विद्यार्थी सर्टिफिकेट, डिप्लोमा या डिग्री प्राप्त करें। यह विद्यार्थियों को उनके हिसाब से पाठ्यक्रम करने की सुविधा देता है और वे इस पाठ्यक्रम के माध्यम से क्या हासिल करना चाहते हैं, यह चुनने का अधिकार भी देता है। वर्तमान में कक्षा 12 के विद्यार्थी भी पाठ्यक्रम के लिए आवेदन और प्रवेश सुरक्षित कर सकते हैं। प्रवेश प्राप्त करने के बाद कक्षा 12 की पढ़ाई सफलतापूर्वक पूरा कर विद्यार्थी प्रोग्राम के तहत पाठ्यक्रम शुरू कर पाएंगे।

किसी भी स्ट्रीम के विद्यार्थी नामांकन करा सकते हैं। कोई आयु सीमा नहीं है। कक्षा 10 में अंग्रेजी और गणित की पढ़ाई करने वाला कोई भी व्यक्ति आवेदन कर सकता है। कक्षाएं आनलाइन होंगी इसलिए कोई भौगोलिक सीमा भी नहीं है। वर्तमान में 13,000 से अधिक विद्यार्थी इस पाठ्यक्रम में नामांकित हैं। इनमें सबसे अधिक तमिलनाडु, फिर महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश के विद्यार्थी हैं। प्रवेश परीक्षा में व्यक्तिगत उपस्थिति चाहिए। यह भारत के 111 शहरों में 116 परीक्षा केंद्रों में होती है। यूएई, बहरीन, कुवैत और श्रीलंका में भी परीक्षा केंद्र खोले गए हैं। डेटा साइंस पाठ्यक्रम के सितंबर, 2022 चरण के लिए 19 अगस्त, 2022 तक आवेदन कर सकते हैं।

दिल्ली विश्वविद्यालय ने क्षमता वृद्धि योजना को मंजूरी दी

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) की अकादमिक परिषद (एसी) ने क्षमता वृद्धि योजना (सीईएस) को मंजूरी दे दी। इसके तहत अन्य विश्वविद्यालयों और संस्थानों के विद्यार्थी को अगले साल से डीयू के विभिन्न पाठ्यक्रमों में अध्ययन की अनुमति प्रदान की गई है। यह योजना विश्वविद्यालय में स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर पर चलाए जा रहे पाठ्यक्रमों के लिए उपलब्ध रहेगी। दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति योगेश सिंह ने कहा कि इस योजना का उद्देश्य व्यक्तियों को नई जानकारी प्रदान कर उनकी दक्षता में इजाफा करना है।

यह योजना अगले साल की शुरुआत में विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह के दौरान शुरू की जाएगी। विश्वविद्यालय ने एक बयान में कहा कि शैक्षणिक वर्ष 2022-23 से राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (एनईपी) को लागू करने के साथ ही विश्वविद्यालय एनईपी के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए क्षमता वृद्धि योजना की भी शुरुआत करेगा। सिंह ने कहा कि इस योजना के तहत उद्यमी नए कौशल हासिल कर अपने कारोबार को बढ़ा सकेंगे।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट