ताज़ा खबर
 

33 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में वैक्सीन का ड्राई रन शुक्रवार को, स्वास्थ्य मंत्री ने बताया- यात्री विमान भी बनेंगे सारथी

फिलहाल Covishield की 5 करोड़ से ज्यादा डोज हैं जबकि Covaxin की अभी 1.5 करोड़ डोज ही तैयार हैं।

harsh vardhanस्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ।

कोरोना वैक्सीन लगाए जाने की पूरी तैयारी की जा चुकी है। यही नहीं दोनों वैक्सीन सप्लाई करने की स्थिति में भी आ गई हैं। शुक्रवार को होने वाला ड्राई रन 33 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में आयोजित किया जाएगा। साथ ही यात्री विमानों का इस्तेमाल वैक्सीन के ट्रांसपोर्ट के लिए भी किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा,”दो वैक्सीन ऐसी हैं जिनके बारे में हम जानते हैं। दो वैक्सीन को इमरजेंसी यूज ऑथराजइजेशन मिल गया है। वैक्सीन का इस्तेमाल करने की स्थिति में हम लोग हैं। कुछ ही समय के बाद हम इस प्रक्रिया को शुरू करेंगे। कल देशभर में दूसरा ड्राई रन आयोजित किया जाएगा।” हर्षवर्धन ने कहा कि लोग कोरोना वैक्सीन को लेकर फैलाई जा रही अफवाहों में न आएं। उन्होंने कहा कि जल्द ही टीकाकरण का अभियान शुरू किया जा सकता है।

केंद्र सरकार शुक्रवार को देशभर में कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन आयोजित करने जा रही है। देश के सभी 718 जिलों में ड्राई रन आयोजित किया जाएगा। सरकार ने इससे पहले कहा था कि 13 जनवरी के आस-पास कोरोना टीकाकरण शुरू किया जा सकता है। डॉ हर्षवर्धन ने आज सभी राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों के स्वास्थ्य मंत्रियों से ड्राई रन को लेकर मीटिंग की। माना जा रहा है कि हर जिले में तीन जगहों पर ड्राई रन करने की सरकार की योजना है। जिसे लेकर केंद्र ने सभी राज्यों को सूचित कर दिया है।

बता दें कि 28 और 29 दिसंबर को गुजरात, आंध्र प्रदेश, पंजाब, असम में ड्राई रन किया गया था। इसके बाद 2 जनवरी को दूसरा ड्राई रन सभी राज्यों की राजधानियों में किया गया था। इसके बाद 3 जनवरी को सरकार ने Covid-19 वैक्सीनों— Covaxin, जिसे कि Bharat Biotech ने बनाया है, और Covishield, जिसे कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने बनाया है, को इमरजेंसी यूज के लिए अथॉराइजेशन दे दी थी।

सरकार का कहना है कि टीकाकरण अभियान के लिए बैकएंड में तैयारी कर ली गई है। जिसमें वैक्सीन का ट्रांसपोर्टेशन , वैक्सीन का रखरखाव, वैक्सीन की मैन्युफैक्चरिंग शामिल हैं। शुरुआती ड्राई रन के बाद राज्य सरकारों ने कहा था कि वैक्सीन के टीकाकरण के समय लोगों पर होने वाले साइड इफेक्ट की रियल टाइम निगरानी होनी चाहिए।

सरकार Covishield वैक्सीन से टीकाकरण शुरू करेगी और Covaxin को बैकअप के तौर पर रखेगी। फिलहाल Covishield की 5 करोड़ से ज्यादा डोज हैं जबकि Covaxin की अभी 1.5 करोड़ डोज ही तैयार हैं।

Next Stories
1 दिल्ली HC में अमिताभ बच्चन की आवाज़ वाली कॉलर ट्यून के खिलाफ याचिका दायर, हटाने की मांग पर 18 जनवरी को होगी सुनवाई
2 15 देशों ने दिया 6 vaccine को Approval, जानिए कौन सी है सबसे ज्यादा प्रभावी
3 कांग्रेस का आरोप, मोदी सरकार चला रही पेट्रोल-डीज़ल-गैस में लूट का खेल, चुपचाप बढ़ा दी कीमतें
ये पढ़ा क्या?
X