ताज़ा खबर
 

RSS के बाद अब कांग्रेस सेवा दल भी बदलेगा ड्रेस कोड! पायजामे की जगह पहनेंगे जीन्स

सेवादल के ड्रेस कोड में बदलाव के प्रस्ताव को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के समक्ष रखा गया। राहुल गांधी ने इस प्रस्ताव की समीक्षा करते हुए बदलाव की मंजूरी दे दी।

कांग्रेस सेवा दल की बैठक की फाइल फोटो। (Photo Courte4sy: Twitter)

राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ के बाद अब कांग्रेस सेवा दल भी अपना ड्रेस कोड बदलने की तैयारी में है। कांग्रेस का ‘सच्चा सिपाही’ के रूप में कहे जाने वाले सेवादल के लिए नया ड्रेस कोड लागू होगा। अभी तक सेवादल के कार्यकर्ता सफेद कुर्ता और पायजामा पहनते थे, लेकिन राहुल गांधी से प्रेरणा लेते हुए अब वे नीली जीन्स व सफेद कुर्ता पहनेंगे। कांग्रेस सेवा दल के एक सदस्य के अनुसार, यह बदलाव समय के हिसाब से किया जा रहा है। आज के युवाओं के अनुरूप किया जा रहा है। नीली जीन्स और कुर्ता में सेवदल के सदस्यों को युवाओं को साथ जोड़ने में आसानी होगी।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार, बीते दिनों सेवादल का राष्ट्रीय स्तर का एक प्रशिक्षण वर्ग आयोजित किया गया था। यह प्रशिक्षण वर्ग करीब एक महीने का था। प्रशिक्षण वर्ग के दौरान यह बात उठी कि सफेद रंग का यूनीफॉर्म सुबह से शाम तक पहने रहना पड़ता है। इस वजह से ये गंदी हो जाती है। प्राकृतिक आपदा या दूसरे सेवा कार्यों के वक्त भी यह यूनीफॉर्म जल्दी गंदी होती है, इसलिए इसमें बदलाव किया जाना चाहिए। इस प्रस्ताव को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के समक्ष रखा गया। राहुल गांधी ने इस प्रस्ताव की समीक्षा करते हुए ड्रेस कोड में बदलाव की मंजूरी दे दी।

बता दें कि कांग्रेस का सेवा दल 1923 में अस्तित्व में आया था। इस दल के कार्यकर्ताओं को कांग्रेस का सच्चा सिपाही माना जाता है। इसका गठन आजादी की लड़ाई के दौरान जमीनी स्तर पर काम करने के लिए किया गया था।  1931 में सेवादल का स्वतंत्र स्वरूप ख़त्म करते हुए इसे कांग्रेस का हिस्सा बना दिया गया था। ऐसा सरदार बल्लभ भाई पटेल की सिफ़ारिश पर किया गया था। आजादी के बाद इसकी भूमिका ध्वजारोहन और आपदा के समय बचाव कार्य तक सीमित हो गई। अब एक बार फिर राहुल गांधी इस संगठन को धार देने में जुट गए हैं।

गौरतलब है कि दो साल पहले आरएसएस की सबसे बड़ी ईकाई अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक में ड्रेस बदलने का फैसला लिया था। खाकी हाफ पैंट की जगह भूरे रंग का फुल पैंट में संघ के कार्यकर्ता नजर आने लगे। इसके पीछे संघ का मानना है किा हाफ पैंट का आकार और रंग युवाओं के बड़े वर्ग तक जुड़ने में बाधक बना हुआ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App