ताज़ा खबर
 

जनसत्ता विशेष: केदारनाथ धाम के कपाट खुले

बाबा केदारनाथ के मंदिर के मुख्य द्वार पर कपाट खोलने की प्रक्रिया पूरी हुई। इस मौके पर भगवान शिव के गण भैरवनाथ का आवाह्नान किया गया और सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर भगवान केदारनाथ के कपाट वेद मंत्रों और शिव महिमा स्तोत्र के मंत्रोच्चार के मध्य खोल दिए गए।

Author देहरादून | Published on: April 30, 2020 12:53 AM
बाबा केदारनाथ धाम के कपाट विधि-विधान से खोल दिए गए।

देश के विभिन्न भागों में स्थित 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग बाबा केदारनाथ धाम के कपाट बुधवार को मेष लग्न तथा पुनवर्सु नक्षत्र में सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर वैदिक विधि-विधान के साथ खोले गए। आज सुबह तड़के तीन बजे से ही कपाट खुलने की प्रक्रिया शुरू हो गई थी। मुख्य पुजारी रावल शिवशंकर लिंग और वेदपाठी मंदिर के दक्षिण द्वार पूजन के बाद मुख्य मंदिर परिसर में दाखिल हुए।

बाबा केदारनाथ के मंदिर के मुख्य द्वार पर कपाट खोलने की प्रक्रिया पूरी हुई। इस मौके पर भगवान शिव के गण भैरवनाथ का आवाह्नान किया गया और सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर भगवान केदारनाथ के कपाट वेद मंत्रों और शिव महिमा स्तोत्र के मंत्रोच्चार के मध्य खोल दिए गए। बाबा के कपाट सादगी पूर्ण तरीके से खोले गए बाबा केदारनाथ धाम के मुख्य पुजारी रावल शिवशंकर लिंग ने इस ग्यारहवें ज्योतिर्लिंग का रूद्राभिषेक और जलाभिषेक पूजा संपन्न कराया। कपाट खुलने के बाद सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से रूद्राभिषेक पूजा संपन्न की गई।

केदारनाथ बाबा की डोली मुखी मठ से पैदल ही वैदिक विधि विधान के साथ केदारनाथ धाम पहुंची थी जिस डोली को लेकर मंदिर के मुख्य पुजारी और पंडे पुरोहित केदारनाथ धाम में पहुंचे थे। इस तरह आज से 6 महीने के लिए बाबा केदारनाथ की पूजा लोग बाग करेंगे। मान्यता है कि दिवाली के बाद कपाट बंद होने के बाद 6 महीने तक बाबा केदारनाथ की पूजा देवता करते हैं।

आज जब बाबा केदारनाथ के कपाट खोले गए तो चारों ओर पांच छह फुट ऊंची बर्फ मंदिर के चारों ओर जमी हुई थी। इसी में से काट कर मंदिर पहुंचने का रास्ता बनाया गया था। पहली बार ऐसा हो रहा है कि केदारनाथ के कपाट होते समय श्रद्धालुओं के दर्शन करने पर कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पाबंदी लगाई गई है और मंदिर के पंडे पुजारियों और अधिकारियों को मिलाकर कुल 16 लोग ही बाबा केदार नाथ के दर पर मौजूद थे।

प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने केदारनाथ धाम के कपाट तय तिथि में खुलने पर शिव भक्तों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि बाबा केदारनाथ की कृपा से जल्द देश और दुनिया कोरोना का संकट से निजात पा लेगी और फिर से एक बार चार धाम यात्रा को गति मिलेगी।

आज सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर मेष लग्न में विधि-विधान से केदारनाथ धाम के कपाट खुले
कपाट खोलने पर पहली पूजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से कराई गई
कोरोना से बचाव को देखते हुए उचित दूरी का ध्यान रखा गया

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जनसत्ता विशेष: सूने पड़े हैं चारों धाम के मंदिरों के दर
2 जनसत्ता विशेष स्मृति शेष: इरफान के साथ ही चला गया, थियेटर के लिए कुछ बड़ा करने का सपना
3 जाकिर नाइक के प्रवक्ता पर भड़के टीवी एंकर, बीच शो से भगाया, पात्रा बोले- ऐसे लोगों को ना बुलाया करें