ताज़ा खबर
 

डोनाल्ड ट्रंप के दौरे से भारत-अमेरिका को क्या हुआ फायदा, जानें 10 महत्वपूर्ण बातें

भारत-अमेरिका के बीच करीब 3 बिलियन डॉलर की डिफेंस डील हुई है, जिसमें भारत को 24 एमएच-60 हेलीकॉप्टर्स मिलेंगे। इसके साथ ही भारत को 6 अपाचे हेलीकॉप्टर्स भी मिलेंगे।

दिल्ली में मुलाकात के बाद पीएम मोदी और डोनाल्ड ट्रम्प ने साझा बयान जारी किया। (AP Photo/Manish Swarup)

डोनाल्ड ट्रम्प के भारत दौरे के दौरान भले ही दोनों देशों के बीच कोई व्यापार समझौता नहीं हुआ, लेकिन ट्रम्प का यह दौरा कई मायनों में बेहद खास है। दरअसल इस दौरे से दोनों देशों के संबंधों में और मजबूती आने की उम्मीद है। दोनों देशों के संबंध मजबूत होने के अलावा भी ट्रम्प के इस दौरे से कई अहम बातें निकलकर सामने आयी हैं, भविष्य में जिनका फायदा दोनों देशों को मिल सकता है।

भारत-अमेरिका के बीच करीब 3 बिलियन डॉलर की डिफेंस डील हुई है, जिसमें भारत को 24 एमएच-60 हेलीकॉप्टर्स मिलेंगे। इसके साथ ही भारत को 6 अपाचे हेलीकॉप्टर्स भी मिलेंगे।

दोनों देशों के बीच जल्द ही बड़े व्यापार समझौते की उम्मीद बन गई है। इसके लिए दोनों देश वार्ता करेंगे और आपसी सहमति के बाद इस संबंध में कोई बड़ा ऐलान किया जाएगा।

चीन के साथ जारी व्यापार युद्ध के चलते अमेरिका किसी अन्य बड़े बाजार की तलाश में है। ऐसे में भारत के साथ व्यापार समझौता अमेरिका के लिए भी खासा फायदेमंद साबित होगा।

भारत ने अमेरिका के साथ जिन 24 एमएच-60 हेलीकॉप्टर्स का सौदा किया है, उनकी मदद से भारतीय नौसेना हिंद महासागर में ज्यादा बेहतर तरीके से निगरानी कर सकेगी। अभी चीन द्वारा हिंद महासागर में अपना प्रभाव बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है, जिसके चलते चीन की नौकाओं पर भारतीय सीमा में प्रवेश करने के आरोप लगते रहे हैं। ऐसे में नौसेना की निगरानी क्षमता में बढ़ोत्तरी होने से ऐसी घटनाओं में कमी आने की उम्मीद है।

विदेश मंत्रालय के अनुसार, दोनों देश मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी सहयोग करेंगे। इसके अलावा चिकित्सा उत्पादों की सुरक्षा के विषय पर भी भारत की सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन और अमेरिका की फूड एंड ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन के बीच सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए गए हैं।

पेट्रोलियम और एलएनजी के क्षेत्र में भी दोनों देशों के बीच परस्पर सहयोग बढ़ेगा। इसके लिए इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन और अमेरिका की एक्जान मोबिल इंडिया लिमिटेड और चार्ट इंडस्ट्रीज आईएनसी के बीच समझौता पत्र पर हस्ताक्षर हुए।

डोनाल्ड ट्रम्प ने पीएम मोदी के साथ चर्चा के दौरान दोनों देशों के नागरिकों को कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकवाद से बचाने की प्रतिबद्धता जतायी। इसके लिए ट्रम्प ने पाकिस्तान से अपनी जमीन पर उपज रहे आतंकवाद को भी खत्म करने को लेकर चर्चा करने की बात कही।

इसके अलावा अमेरिका द्वारा कश्मीर को लेकर भी कोई मुद्दा नहीं उठाया गया है। जिसे कूटनीतिक जीत माना जा रहा है और इससे भारत सरकार को अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर पड़ने वाले दबाव से काफी राहत मिली होगी।

डोनाल्ड ट्रम्प सोमवार को अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में मिले स्वागत सत्कार से भी अभिभूत नजर आए और उन्होंने इसकी तारीफ की, साथ ही पीएम मोदी की भी तारीफ की।

डोनाल्ड ट्रम्प का दौरा अमेरिका में भारतवंशी लोगों की बढ़ती अहमियत को दर्शाता है। अमेरिका में जल्द ही आम चुनाव होने हैं, ऐसे वक्त में ट्रम्प का भारत आना और भारत की तारीफ करना कहीं ना कहीं अमेरिका में भारतीयों के बढ़ते दबदबे की ओर इशारा कर रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 कुणाल कामरा को हवाई यात्रा से प्रतिबंधित करने पर हाईकोर्ट ने डीजीसीए को लगाई फटकार, कहा- कार्रवाई शुरू करने से पहले देखनी चाहिए थी शिकायत
2 दिल्ली हिंसा पर बोले CM अरविंद केजरीवाल- राजधानी में आ रहे बाहरी, बॉर्डर सील हों; कल को किसी का भी नंबर आ सकता है…
3 राज्यसभा की 55 सीटों के लिए 26 मार्च को होंगे चुनाव, देंखे किस राज्य से कितनी सीटें होगी रिक्त, किस पार्टी को होगा फायदा
ये पढ़ा क्या?
X