ताज़ा खबर
 

डोनाल्ड ट्रम्प के दौरे से पहले मोटेरा की झुग्गियों के 45 परिवारों को घर छोड़ने का आदेश, गर्भवती महिला, बच्चे अड़े- ‘मर जाएंगे पर नहीं छोड़ेंगे आशियाना’

मोटेरा बस्ती का झुग्गी झोपड़ी वाला यह इलाका शहर के नवनिर्मित मोटेरा स्टेडियम के नजदीक स्थित है। बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और पीएम मोदी मोटेरा स्टेडियम का उद्घाटन करेंगे।

डोनाल्ड ट्रंप के दौरे से पहल झुग्गी खाली करायी जा रही हैं। (एक्सप्रेस फोटो)

डोनाल्ड ट्रम्प के भारत दौरे को लेकर गुजरात सरकार अहमदाबाद को चमकाने में जुटी है। शहर को चमकाने की इन्हीं कोशिशों के बीच अहमदाबाद की मोटेरा बस्ती की झुग्गियों से 45 परिवारों को घर छोड़ने का आदेश दिया गया है। यह आदेश अहमदाबाद म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन द्वारा दिया गया है। आदेश में झुग्गीवासियों से तुरंत इलाका खाली करने को कहा गया है।

बता दें कि मोटेरा बस्ती का झुग्गी झोपड़ी वाला यह इलाका शहर के नवनिर्मित मोटेरा स्टेडियम के नजदीक स्थित है। बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और पीएम मोदी मोटेरा स्टेडियम का उद्घाटन करेंगे।

एक रिपोर्ट के अनुसार, झुग्गी में रहने वाले एक शख्स ने बताया कि वह बीते 10 सालों से यहां रह रहा है। अब अहमदाबाद म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन ने उसे नोटिस भेजकर जगह खाली करने का आदेश दिया है। बता दें कि इस शख्स की तरह अन्य निवासियों को भी जगह खाली करने के नोटिस मिले हैं।

बता दें कि जिन परिवारों को घर छोड़कर जाने के लिए कहा गया है, उनमें करीब 200 लोग शामिल हैं। ये लोग दिहाड़ी मजदूर हैं। हालांकि अहमदाबाद म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन ने राष्ट्रपति ट्रंप के कार्यक्रम से इसका कोई संबंध होने से इंकार किया है।

द क्विंट की रिपोर्ट के अनुसार, जिन लोगों को मोटेरा बस्ती खाली करने का आदेश दिया गया है, उनमें शामिल एक गर्भवती महिला ने प्रशासन के इस आदेश पर नाराजगी जाहिर की है। महिला ने कहा कि “प्रशासन गर्भवती महिलाओं के कल्याण की बात करता है। अब क्या हो गया? क्या हम अपना पूरा घर इतनी जल्दी खाली कर सकते हैं?”

महिला ने कहा कि हमने बीते 3 दिनों से कुछ नहीं खाया है। अब हमारी मुश्किलों को बढ़ाते हुए हमें यहां से जाने को कहा जा रहा है। बता दें कि अहमदाबाद म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन द्वारा डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे की तैयारियों के लिए कथित तौर पर करीब 100 करोड़ रुपए का बजट तय किया गया है।

मोटेरा बस्ती के लोगों का, जिन्हें जगह खाली करने के लिए कहा गया है, उन्होंने कहा कि हम इन झुग्गी झोपड़ियों में करीब 10 सालों से रह रहे हैं। प्रशासन ने उन्हें नोटिस भेजे हैं, लेकिन हम फिर भी ये जगह खाली नहीं करेंगे। एक महिला ने कहा कि “आप हम पर बुल्डोजर चला सकते हैं। मशीन हमें मार सकती है, लेकिन हम ये जगह खाली नहीं करेंगे।”

Next Stories
1 राजस्थान: रात के अंधेरे में गधों को चुराकर भाग रहे तीन दलितों की जबर्दस्त पिटाई, वीडियो वायरल होने पर एक गिरफ्तार, एक हिरासत में
2 तेजस्वी की बेरोजगारी हटाओ यात्रा को विरोधियों ने बताया ‘आर्थिक उगाही यात्रा’, पटना में लगाए पोस्टर- ‘हाईटेक बस तैयार हुआ, अतिपिछड़ा शिकार हुआ’
3 ‘पाकिस्तान जिन्दाबाद’ नारा लगाने वाली छात्रा के बचाव में उतरे SC के पूर्व जज, बोले- ‘कानून का गलत इस्तेमाल हुआ है’
Coronavirus LIVE:
X