ताज़ा खबर
 

Doda Encounter: नौकरी छोड़ MBA पास बना हिजबुल कमांडर, BJP-RSS नेताओं का था हत्यारा!

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह के ने बताया कि हारून वानी का हाथ वरिष्ठ आरएसएस नेता चंद्रकांत शर्मा और उनके निजी सुरक्षा ऑफिसर की हत्या कराने में भी हाथ था।

Author श्रीनगर | Updated: January 16, 2020 11:39 AM
मुठभेड़ में मारा गया आतंकी हारून वानी, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

जम्मू – कश्मीर में सेना और आतंकवादियों के बीच में हुए मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के बड़े आतंकवादी नेता को सेना ने मार गिराया है। मारे गए आतंकी की पहचान हारून वानी के रूप में हुई है। हारून एक ‘ए ++ श्रेणी’ का आतंकी बताया जा रहा है, जो कथित तौर पर भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अनिल परिहार और उनके भाई अजित की हत्या के पीछे इसका हाथ बताया जाता है।

बीजेपी नेता की कि थी हत्या: एनकाउंटर के बाद मीडिया से बात करते हुए जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि हारून वानी का हाथ वरिष्ठ आरएसएस नेता चंद्रकांत शर्मा और उनके निजी सुरक्षा ऑफिसर की हत्या कराने में भी था। बता दें कि यह मुठभेड़ जम्मू और कश्मीर के डोडा जिले में हुई है। हारून वानी के पास से एक एके -47 राइफल, तीन मैगजीन, 73 राउंड, एक चीनी ग्रेनेड और एक रेडियो सेट बरामद किया गया था। पुलिस इसे हिजबुल मुजाहिदीन का एक जिला कमांडर बता रही है।

Hindi News Live Hindi Samachar 16 January 2020: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

डोडा का था निवासी: समाचार एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, हारून वानी भाई और बहन पढ़े लिखे व योग्य है। उसके पिता का नाम हारून गुलाम अब्बास वानी है,  वह पेशे से एक इंजीनियर  है और डोडा के फुरकान अबद घाट क्षेत्र के निवासी है। इनके आठ बच्चों में से आंतकी वानी भी एक था।

एमबीए किया था हारून: समाचार एजेंसी ने बताया कि हारून खुद भी काफी पढ़ा लिखा था। वह कटरा विश्वविद्यालय से एमबीए किया हुआ था और वह एक प्राइवेट कंपनी में जॉब भी कर रहा था। लेकिन जब वह हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ तो जॉब छोड़ दी। उसके रिश्तेदारों ने बताया कि वह पढ़ने में बहुत तेज था।

सोशल मीडिया पर फोटो हुआ था वायरल: बता दें कि हारून पहली बार सितंबर 2018 में सबकी नजर में आया था। मुजाहिदीन में शामिल होने के बाद उसकी एक तस्वीर एके-47 के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। इसके बाद से ही वह सेना की नजरों में आ गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘गैंगस्टर करीम लाला से मिलने मुंबई आती थीं इंदिरा गांधी’, चौतरफा घिरे संजय राउत ने बयान लिया वापस
2 कांग्रेस पर बरसे अमित शाह, कहा- 60 साल में बेरोजगारी दूर करने के लिए क्या किया? रतन टाटा बोले- मोदी सरकार के पास है विजन
3 NPR: Aadhaar Card, Passport धारक हैं तब आपको भी दिखाने होंगे कागज, जानिए क्यों
ये पढ़ा क्या?
X