ताज़ा खबर
 

टीएमसी सांसद बोले- कांग्रेस को कोसिए पर मत भूलिए, राजीव और इंदिरा गांधी देश के लिए हुए शहीद

लोकसभा में बजट पर चर्चा में भाग लेने के दौरान दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि राजनेता भले ही वैचारिक स्तर पर दोनों के साथ सहमत ना हों, लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि इंदिरा और राजीव गांधी ने देश के लिए जान दी।

Author नई दिल्ली | February 8, 2018 19:14 pm
तृणमूल कांग्रेस के सांसद दिनेश त्रिवेदी। (Source: PTI photo)

तृणमूल कांग्रेस के सांसद दिनेश त्रिवेदी ने गुरुवार को कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और राजीव गांधी शहीद हैं और दोनों की आलोचना करते समय इस बात को ध्यान में रखा जाना चाहिए। लोकसभा में बजट पर चर्चा में भाग लेने के दौरान त्रिवेदी ने कहा कि राजनेता भले ही वैचारिक स्तर पर दोनों के साथ सहमत ना हों, लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि उन्होंने देश के लिए जान दी। उन्होंने कहा, “हम यह कैसे भूल सकते हैं कि राजीव गांधी ने देश के लिए अपना जीवन कुर्बान किया, इंदिरा गांधी ने देश के लिए जीवन कुर्बान किया।”

त्रिवेदी ने कहा कि आलोचना करने वाले शख्स को यह बात ध्यान में रखनी चाहिए कि हम शहीदों के बारे में बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “हम में मतभेद हो सकते हैं, हम आपातकाल से असहमत हो सकते हैं।” त्रिवेदी की यह टिप्पणी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कांग्रेस पर वंशवाद की राजनीति करने, भ्रष्टाचार, लापरवाह शासन और जल्दबाजी में आंध्र प्रदेश का विभाजन करने को लेकर हमला करने के एक दिन बाद आई है।

वहीं दूसरी तरफ, गुजरात विधानसभा चुनावों और राजस्थान उप चुनावों में हवा का रुख बदलता देख कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने गुरुवार को कहा कि उनकी पार्टी लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को हराने के लिए समान सोच वाले दलों के साथ मिलकर काम करेगी। उन्होंने यह संभावना भी जताई कि लोकसभा चुनाव समय से पहले हो सकते हैं। उन्होंने कर्नाटक में आगामी विधानसभा चुनावों में भी कांग्रेस की सत्ता के बरकरार रहने के प्रति विश्वास जताया।

कांग्रेस संसदीय दल की बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष के तौर पर मैं कांग्रेस अध्यक्ष और अन्य साथियों के साथ काम कर समान सोच वाली अन्य पार्टियों के नेताओं से मंत्रणा करूंगी जिससे अगले चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की हार सुनिश्चित हो सके और भारत लोकतांत्रिक, धर्मनिरपेक्ष, सहिष्णु और आर्थिक प्रगति के मार्ग पर लौट सके।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App