ताज़ा खबर
 

”मैं मोदी को अर्स से फर्श पर लाने के लिए बिहार की जनता के आभारी हूं”

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने कहा है कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आकाश से धरती पर खींच लाने के लिए बिहार की जनता के आभारी हैं, जिसने विधानसभा चुनाव में मोदी, भाजपा और राजग को आईना दिखा दिया है।

Author भोपाल | November 29, 2015 2:44 AM

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने कहा है कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आकाश से धरती पर खींच लाने के लिए बिहार की जनता के आभारी हैं, जिसने विधानसभा चुनाव में मोदी, भाजपा और राजग को आईना दिखा दिया है। सिंह ने शनिवार को यहां अपने सरकारी निवास पर संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त का ही नतीजा है कि प्रधानमंत्री मोदी ने वस्तु व सेवा कर (जीएसटी) विधेयक पर सहमति बनाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह से विचार विमर्श की पहल की है।

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि यह बिहार का ही असर है कि प्रधानमंत्री मोदी को कहना पड़ा कि देश सहमति के आधार पर चल सकता है, बहुमत के आधार पर नहीं। इसलिए हम बिहार की जनता के साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और सोनिया जी के भी आभारी हैं। उन्होंने कहा कि यही मोदी कहते नहीं थकते थे कि पिछले 60 सालों में कांग्रेस ने इस देश के लिए कुछ नहीं किया लेकिन अब अचानक उन्हें याद आया है कि देश के विकास में पूर्व प्रधानमंत्रियों का भी योगदान है। यह बदलाव केवल बिहार की वजह से है।

मध्य प्रदेश में हाल ही में हुए रतलाम-झाबुआ लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस की जीत का जिक्र करते हुए सिंह ने कहा कि मोदी और चौहान (मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री) साफ तौर पर समझ गए होंगे कि खोखले वायदे करने से कुछ नहीं होता है। उपचुनाव के परिणाम ने साफ कर दिया है कि आदिवासी उनसे, विशेषकर चौहान से नाराज हैं।

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने 29 नवंबर को अपने कार्यकाल के दस साल पूरे करने जा रहे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को बधाई तो दी लेकिन राज्य के विकास की गाथा को काल्पनिक आंकड़ों पर आधारित बताया। अब तक यह कीर्तिमान खुद दिग्विजय सिंह के नाम था। सिंह ने कहा कि एक पुरानी कहावत है कि ‘जो पेड़ लगाते हैं, वे उसके फल नहीं खा पाते हैं’ और यही चौहान पर भी लागू होता है क्योंकि जिन परियोजनाओं की शुरुआत हमने (पूर्व कांग्रेस सरकार) की थी, वे (चौहान) केवल उसके फलों का आनंद ले रहे हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि अनाज उत्पादन बढ़ने के आंकड़े अधिकारियों की हेराफेरी का नतीजा हैं क्योंकि इन्हें अन्य राज्यों से सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) का अनाज और अन्य पैदावार मध्य प्रदेश लाकर बेचे जाने से जोड़ा जा रहा है। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि पैदावार अधिक बताने के लिए चावल को बाजार में दोबारा लाया गया और उत्तर प्रदेश के किसानों ने अपना गेहूं मध्य प्रदेश लाकर इसलिए बेचा क्योंकि यहां समर्थन मूल्य पर बोनस दिया जा रहा था। इसी वजह से अनाज उत्पादन का आंकड़ा बढ़ गया। ये सभी आंकड़े काल्पनिक और हेराफेरी कर गढ़े गए थे।

जब उनसे मुख्यमंत्री चौहान की इस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया मांगी गई कि ‘दुधारू गाय को कोई ढोढर नहीं भेजता’, सिंह ने कहा कि अगर वे (चौहान) खुद को दुधारु गाय मानते हैं, तो उनका दूध आरएसएस और भाजपा नेता व उनके परिवार के सदस्य दूह रहे हैं जबकि प्रदेश की जनता भूखों मर रही है। सन 2005 में जब चौहान इस प्रदेश के मुख्यमंत्री बने, तब उनकी (सिंह) टिप्पणी ‘पप्पू पास नहीं होगा’ और ‘चौहान को बलि का बकरा बनाया गया है’, याद दिलाने पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि पप्पू को तब पास हुआ माना जाएगा, जब मध्य प्रदेश के लोगों को लगेगा कि उनका जीवन स्तर ऊंचा उठ गया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बेमेल गठबंधन की महागठबंधन सरकार पूरा नहीं कर पाएगी अपना कार्यकाल
2 ‘लगान’ के किसान आमिर खान ने चुकाया 817 रुपए 95 रुपए का बकाया लगान
3 थोथे प्रचार करने वालों की पोल खुली, काम करने वालों को ही मिलते हैं वोटः अखिलेश यादव
ये पढ़ा क्या?
X