कश्मीर में DDC चुनाव से पहले गुपकार गठबंधन में दरार, कांग्रेस ने पीडीपी के खिलाफ उतारे उम्मीदवार

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक दिन पहले ही कहा था कि गुपकर गैंग जम्मू-कश्मीर में विदेशी ताकतों का हस्तक्षेप चाहती है, क्‍या सोनिया जी और राहुल जी गुपकर गैंग की ऐसी चालों का समर्थन करते हैं।

Jammu and Kashmir, PDP-NC
जम्मू-कश्मीर की स्थानीय पार्टियों ने हाल ही में केंद्र शासित प्रदेश के पुनर्गठन और विशेष दर्जा बहाल कराने के लक्ष्य के साथ बैठक की थी। (फोटो- एक्सप्रेस/Suhaib Masoodi)

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के गुपकार गठबंधन पर सवाल उठाने के बाद अब इसमें दरारें दिखना शुरू हो गई हैं। बताया गया है कि इस दल से सबसे पहले अलग होने वाली पार्टी कांग्रेस है, जिसने आगामी जिला विकास परिषद चुनाव में पीडीपी के खिलाफ उम्मीदवार उतारने का फैसला किया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, डीडीसी चुनाव के दूसरे फेज के लिए त्राल, लरनू, तंगधार और किल्लर में कांग्रेस उम्मीदवारों ने पर्चा भरा है।

बताया गया है कि इससे पहले गुपकार गठबंधन में शामिल पार्टियों ने फैसला किया था कि यहां पर सिर्फ पीडीपी के उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे। गौरतलब है कि केंद्रीय कश्मीर के बडगाम में इसी फैसले के तहत पीडीपी उम्मीदवार ने पर्चा भी भर दिया, जबकि इस सीट पर नेशनल कॉन्फ्रेंस के लड़ने की संभावना थी। माना जा रहा है कि कांग्रेस की ओर से यह फैसला गुपकार गठबंधन पर भाजपा के सवाल उठाने के बाद लिया गया।

बता दें कि एक दिन पहले ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर कांग्रेस के गुपकार गठबंधन में रहने पर सवाल उठाए थे। शाह ने ट्वीट में कहा था कि PAGD में शामिल पार्टियां जम्मू-कश्मीर में विदेशी ताकतों का हस्तक्षेप चाहती हैं। गुपकर गैंग, भारत के तिरंगे का भी अपमान करता है. क्‍या सोनिया जी और राहुल जी गुपकर गैंग की ऐसी चालों का समर्थन करते हैं। उन्‍हें भारत के लोगों के समक्ष अपना रुख स्‍पष्‍ट करना चाहिए।

खुद को गठबंधन से अलग बता चुकी है कांग्रेस: इस पर कांग्रेस, पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस ने पलटवार किया था। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा था कि उनकी पार्टी जम्‍मू-कश्‍मीर पीपुल्‍स अलायंस का हिस्सा नहीं है। सुरजेवाला ने शाह पर झूठ फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि ‘झूठ फैलाना, धोखा और भ्रम पैदा करना मोदी सरकार का स्‍वभाव बन गया है।’ उन्‍होंने कहा कि यह शर्मनाक है कि गृह मंत्री अमित शाह राष्‍ट्रीय सुरक्षा की जिम्‍मेदारी को ताक पर रखकर जम्‍मू, कश्‍मीर और लद्दाख के बारे में ऐसे झूठे, भ्रामक और शरारती बयान दे रहे हैं।

PDP प्रमुख बोली थीं- क्या गठबंधन में चुनाव लड़ना राष्ट्रविरोधी: इससे पहले पीडीपी प्रमुख महबूबा ने सवाल किया कि क्या गठबंधन में चुनाव लड़ना भी अब राष्ट्रविरोधी हो गया है। उन्होंने कहा, ‘‘सत्ता की अपनी भूख में बीजेपी कई गठबंधन कर सकती है लेकिन एकजुट मंच बनाकर हम किस तरह राष्ट्रीय हितों को कमजोर कर रहे हैं?” उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘पहले बीजेपी ने यह विमर्श चलाया कि टुकड़े-टुकड़े गैंग ने भारत की संप्रभुता को धमकी दी है और अब वे ‘गुपकर गैंग’ आक्षेप से हमें राष्ट्रविरोधी साबित करना चाहते हैं।”

बता दें कि पीएजीडी में नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) समेत जम्मू-कश्मीर के विभिन्न दल शामिल हैं। कांग्रेस भी इस गठबंधन में शामिल हुई है। इस गठबंधन ने अनुच्छेद 370 को बहाल करने की मांग की है, जो पूर्ववर्ती राज्य को विशेष दर्जा देता था।

अपडेट