ताज़ा खबर
 

पहली बार पेट्रोल से महंगा हुआ डीजल, वायरल हुए भाजपा नेताओं के पुराने वीडियो- तेल के दाम बढ़ाने पर यूपीए सरकार पर साधा था निशाना

ऐसा पहली बार है जब पेट्रोल के मुकाबले डीजल महंगा हो गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले 18 दिनों में डीजल की कीमत में 10.48 रुपए और पेट्रोल की कीमत में 8.50 रुपए की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

narendra modi, arun jaitleyभाजपा नेताओं का पुराना वीडियो सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है।

कोरोना वायरस महामारी के बीच देश की जनता को महंगाई से राहत मिलने की उम्मीद नजर नहीं आ रही। तेल कंपनियों ने बुधवार (24 जून, 2020) को एक बार फिर तेल के दामों में बढ़ोतरी की है। ऐसा लगातार 18वें दिन हुआ है तेल के काम बढ़ाए गए। हालांकि आज सिर्फ डीजल के दामों में 48 पैसे की बढ़ोतरी की गई है और पेट्रोल के दाम में कोई इजाफा नहीं हुआ। डीजल के दाम में बढ़ोतरी के कारण ये पेट्रोल से महंगा हो गया है। खास बात है कि ऐसा पहली बार है जब पेट्रोल के मुकाबले डीजल महंगा हो गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले 18 दिनों में डीजल की कीमत में 10.48 रुपए और पेट्रोल की कीमत में 8.50 रुपए की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। हालांकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 35-40 डॉलर प्रति बैरल के बीच हैं, मगर पेट्रोल-डीजल में आम आदमी को उस हिसाब से राहत नहीं मिल रही।

इधर तेल के दामों में लगातार बढ़ोतरी के बीच पीएम मोदी और भाजपा नेताओं का एक वीडियो सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है जब यूपीए काल में तेल बढ़ोतरी पर कांग्रेस सरकार को निशाने पर लिया है। इस पुराने वीडियो में दिवंगत भाजपा नेता अरुण जेटली कहते हैं, ‘कच्चे तेल की कीमत दुनिया के बाजार में पिछले दो महीने में कम हुई हैं, फिर सात रुपए बढ़ाने का कोई औचित्य नहीं है। आधे से ज्यादा तेल की कीमत करों के रूप में आ रही है। जब कच्चे तेल की कीमत बढ़ती है टैक्स भी बढ़ जाता है।’ फेसबुक यूजर संजय कुमार ये वीडियो शेयर किया है। उन्होंने लिखा कि ये सब नेता कहां चले गए… अब ऐसे नेता क्यों नहीं होते हैं।

Bihar, Jharkhand Coronavirus LIVE Updates

इसी वीडियो की एक क्लिप में भाजपा नेता प्रकाश जावड़ेकर कह रहे हैं कि सरकार ने पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी की है, मगर इसका कोई आधार नहीं है। जिस दिन तेल के दाम बढ़ाए गए उसी दिन अंतर्राष्ट्रीय बाजार में तेल की कीमतें कम हुई हैं। हम सरकार को चुनौती देते हैं कि पूरी तरह से रिफाइंड तेल दिल्ली में 34 रुपए प्रतिलीटर मिल सकता है। मुंबई 36 रुपए प्रतिलीटर मिल सकता है तो दोगुने दाम क्यों वसूले जा रहे हैं।

वीडियो में तब गुजरात के सीएम नरेंद्र मोदी कहते नजर आते हैं कि जिस तरह से सरकार ने पेट्रोल के दाम बढ़ा दिए, ये दिल्ली सरकार की शासन चलाने की नाकामी का जीता जागता सबूत है। देश की जनता में भारी आक्रोश है। तेल के दाम बढ़ाने से और भी चीजों पर बोझ पड़ने वाला है। सरकार पर भी बोझ बढ़ने वाला है। इसलिए मैं आशा करुंगा की पीएम देश की स्थिति को गंभीरता से लें और बढ़ाए गए दाम को वापस लें।

पुराने वीडियो में भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन कहते हैं कि पीएम की गलत नीतियों की वजह से आम आदमी पर उन्होंने महंगाई का तमाचा मारा है। सरकार बार-बार पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ाती है। हर बार कहा जाता है कि कंपनियों को घाटा हो रहा है। जब दुनिया के बाजार में तेल के दाम गिर जाते हैं तब सरकार कोई कदम नहीं उठाती।

Next Stories
1 मई के शुरू से ही एलएसी पर बड़ी संख्या में सैनिक और युद्ध सामग्री जुटाने में लगा हुआ था चीन: भारत
2 PM CARES के तहत अब तक बने केवल 6 फीसदी वेंटिलेटर, कंपोनेंट्स के उत्पादन की व्यवस्था नहीं, इसलिए हो रही देरी
3 चीन मुद्दे पर पीएम मोदी को निशाना बनाना है या नहीं, कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में इसे लेकर ही उभरे मतभेद
आज का राशिफल
X