ताज़ा खबर
 

देवेंद्र फडणवीस बोले- पीएम मोदी से मीटिंग का हवाला दे गठबंधन करने पहुंचे थे अजित पवार? NCP विधायकों से भी कराई गई थी बात

पूर्व सीएम ने बताया कि "हमने चुनाव के बाद किसी विधायक को तोड़ने या खरीद-फरोख्त करने का प्रयास नहीं किया। अजित पवार ही गठबंधन करने के लिए हमारे पास आए थे।

devendra fadnavis governmentपूर्व महाराष्ट्रा सीएम देवेंद्र फडणवीस, एनसीपी नेता अजीत पवार (एक्सप्रेस फोटो)

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार को दावा किया कि एनसीपी के अजित पवार ही सरकार गठन के लिए उनके पास आए थे और उन्होंने ऐसे जताया था कि शरद पवार भी इस फैसले में उनके साथ हैं। देवेंद्र फडणवीस ने ये भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शरद पवार के बीच हुई मुलाकात के बारे में जानकारी बाद में देंगे। देवेंद्र फडणवीस ने मराठी न्यूज चैनल जी 24 तास के साथ एक बातचीत में उक्त बातें कहीं। फडणवीस ने कहा कि अजित पवार ने उनसे कहा था कि एनसीपी के अधिकतर विधायक भाजपा के साथ जाना चाहते हैं और उनका कांग्रेस के साथ गठबंधन संभव नहीं है।

पूर्व सीएम ने बताया कि “हमने चुनाव के बाद किसी विधायक को तोड़ने या खरीद-फरोख्त करने का प्रयास नहीं किया। अजित पवार ही गठबंधन करने के लिए हमारे पास आए थे। अजित पवार ने कहा कि उनकी पूरी पार्टी भाजपा के साथ गठबंधन के लिए तैयार है। इस दौरान उन्होंने कुछ विधायकों की हमसे बात भी करायी। उन्होंने कहा कि शरद पवार भी इस कदम से वाकिफ हैं। हम जानते थे कि यह एक जुआ है, लेकिन राजनीति में यह चलता है। हालांकि इस मामले में यह असफल रहा।”

बता दें कि महाराष्ट्र में जब शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी मिलकर सरकार बनाने की कोशिशों में जुटी थीं, तब अचानक 23 नवंबर को देवेंद्र फडणवीस ने अजित पवार के समर्थन से सीएम पद की शपथ ले ली। अजित पवार को डिप्टी सीएम बनाया गया। फडणवीस ने बताया कि अजित पवार ने उन्हें 54 एनसीपी विधायकों के समर्थन का पत्र भी दिया था। हालांकि शपथ लेने के तीन दिन बाद ही फडणवीस और अजित पवार को अपने-अपने पदों से इस्तीफा देना पड़ा था। दरअसल शरद पवार ने किसी भी विधायक को टूटने नहीं दिया, जिसके बाद भाजपा की सरकार गिर गई।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में शरद पवार ने भी एक बातचीत में खुलासा किया था कि किन परिस्थितियों में अजित पवार ने भाजपा के साथ जाने का फैसला किया था। इसके साथ ही उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि अजित पवार भाजपा के साथ बातचीत कर रहे थे, यह बात भी उनकी जानकारी में थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिना नाम लिए राहुल गांधी को उपराष्ट्रपति ने दी नसीहत- ‘यूं देश का नाम मत बदनाम करो’, पीएम मोदी का पुराना वीडियो निकाल शेयर कर रहे लोग
2 दिल्ली में बाजार भाव से 25 फीसदी कम कीमत पर मिलेगी शराब, सरकार ने जारी किया यह आदेश
3 Delhi Fire: अनाज मंडी अग्निकांड पर बड़ा खुलासा! इस वजह से गई दर्जनों लोगों की जान
ये पढ़ा क्या?
X