ताज़ा खबर
 

हम सरकार में मगर सरकार हमारी नहीं: शिवसेना

शिवसेना और भाजपा के बीच दरार दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। अब शिवसेना के नेता संजय राउत ने अपना दुखड़ा रोते हुए कहा है कि उनकी पार्टी सत्ता में है लेकिन सरकार...

Author मुंबई | October 28, 2015 12:40 AM
शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे। (पीटीआई फाइल फोटो)

इकतीस अक्तूबर को एक साल पूरा करने जा रही और इन दिनों अपनी उपलब्धियां गिनाने में मशगूल महाराष्ट्र की देवेंद्र फडणवीस सरकार को शिवसेना ने मंगलवार को फिर तगड़ा झटका दिया। शिवसेना ने कहा कि वह सरकार में शामिल जरूर है, मगर यह सरकार उसकी नहीं है। सरकार जो भी निर्णय ले रही है, उसमें वह शिवसेना को शामिल नहीं करती है।

गरीबी से परेशान और बस का पास खरीदने के लिए 260 रुपए नहीं होने पर निराश होकर आत्महत्या करनेवाली लातूर की स्वाति पिटले (16) के परिवार से शिवसेना सांसद संजय राऊत ने मंगलवार मुलाकात की। उन्होंने स्वाति के परिवार को 50 हजार रुपए की मदद की। इसी दौरान राऊत ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि शिवसेना चाहे सरकार में शामिल हो, मगर यह सरकार उसकी नहीं है। साथ ही कहा कि सरकार कोई निर्णय लेने से पहले शिवसेना मंत्रियों से विचार-विमर्श नहीं करती है।

स्वाति से मिलने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए राऊत ने कहा कि यह घटना उद्वेलित करनेवाली है और महाराष्ट्र की प्रगतिशील छवि पर प्रश्न चिह्न लगाती है। सरकार के निर्णय लेनेवाले महत्त्वपूर्ण विभागों से सेना दूर है। राऊत ने कहा कि शिवसेना के मंत्री अनुभवी हैं, मगर सरकार उनका सही उपयोग नहीं कर रही है। उन्होंने उम्मीद जताते हुए कहा कि जनता को चुनावों का इंतजार है। अगले चुनाव में जनता शिवसेना को बहुमत देगी और मुख्यमंत्री शिवसेना का होगा।

इससे पहले सोमवार को सामना ने स्वाति की आत्महत्या पर सरकार के खिलाफ हमला बोलते हुए कहा था कि सरकार डांस प्रतियोगिता में सरकारी टीम भेजने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से
आठ लाख रुपए दे देती है। मगर इससे ज्यादा अधिकार कहीं स्वाति का था। जिस तत्परता से डांस टीम की मदद की गई, उतनी तत्परता से सरकार स्वाति की मदद के लिए आगे नहीं आई, यह दुर्भाग्यपूर्ण है।

शिवसेना ने कहा कि मुख्यमंत्री कहते हैं कि पाकिस्तानियों का विरोध करने से देश की छवि खराब हुई है। अब स्वाति की आत्महत्या से क्या सरकार पर फूलों की बरसात हुई? दूसरी ओर सरकार शिवसेना के नेताओं की उपेक्षा कर रही है। उद्योग मंत्री सुभाष देसाई की शिकायत है कि सरकार उन्हें विश्वास में लेकर काम नहीं कर रही है।

दरअसल रविवार को एक टीवी चैनल पर महाराष्ट्र के उद्योगमंत्री और शिवसेना नेता सुभाष देसाई ने दो टूक कहा था कि सूबे में चाहे भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना गठबंधन की सरकार हो, मगर सरकार में शिवसेना के मंत्रियों की उपेक्षा की जा रही है। सरकार क्या कर रही है यह जानने का हमारा अधिकार होता है, क्योंकि हम सरकार में शामिल हैं, मगर यह अधिकार हमें नहीं मिल रहा है। हमें हाशिये पर डाला जा रहा है।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App