चिट्ठी की वजह से राम रहीम ने कर दी थी अपने मैनेजर की हत्या! 400 लोगों को नपुंसक बनाने का भी आरोपी

गुरमीत राम रहीम को पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या और रंजीत सिंह हत्याकांड में उम्रकैद की सजा मिली है। वहीं साध्वी यौन शोषण मामले में भी उसे 20 साल की सजा हुई है।

Gurmeet Ram Rahim,Dera Sachcha
डेरा प्रमुख पर 400 साधुओं को नपुंसक बनाने का भी मामला अदालत में विचाराधीन है(फोटो सोर्स: PTI/फाइल)।

डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबंधक रंजीत सिंह की हत्या के मामले में गुरमीत राम रहीम समेत 5 आरोपियों को दोषी करार देते हुए सीबीआई की विशेष अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। अदालत का फैसला हत्याकांड के करीब 19 साल बाद आया है। एक चिट्ठी की वजह से मारे गए रंजीत सिंह साल 2002 में डेरा सच्चा सौदा के मैनेजर के तौर पर काम किया करते थे।

चिट्ठी से मचा बवाल: कुरुक्षेत्र के रहने वाले रंजीत सिंह का परिवार राम रहीम के डेरे से जुड़ा हुआ था। उनके परिवार में राम रहीम के प्रति बड़ी श्रद्धा थी। सब कुछ ठीक चल रहा था। फिर सामने आई एक गुमनाम चिट्ठी की वजह से डेरा सच्चा सौदा में बवाल मच गया। गुमनाम पत्र में एक साध्वी के साथ यौन शोषण किए जाने का खुलासा किया गया था।

यह चिट्ठी सरकार के कारिंदों और बड़े पुलिस अधिकारियों के नाम लिखी गई थी। इसके बाहर आते ही डेरा सच्चा सौदा पर सवाल खड़े होने लगे। राम रहीम को शक होने लगा कि यह चिट्ठी रंजीत ने अपनी बहन से लिखवाई थी। वहीं रेप के आरोपों से रंजीत का डेरे से मोह टूटने लगा था। उन्होंने मैनेजर पद से इस्तीफा देकर खुद को डेरे से अलग कर लिया था। इसी दौरान अचानक 10 जुलाई 2002 को रंजीत सिंह की हत्या कर दी गई।

इन मामलों में हुई है उम्रकैद: रंजीत की हत्या को लेकर उनका परिवार लगातार डेरा प्रमुख पर आरोप लगा रहा था और आखिर में सीबीआई जांच में यह शक सच में बदल गया। बता दें कि राम रहीम को दो मामलों में उम्रकैद की सजा सुनाई जा चुकी है। जिनमें पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या और रंजीत सिंह हत्या केस में उम्रकैद की सजा मिली है। वहीं साध्वी यौन शोषण मामले में राम रहीम को 20 साल की सजा हुई है। ऐसे में माना जा रहा है कि डेरा प्रमुख का जेल से निकलना बेहद मुश्किल होगा।

400 लोगों को नपुंसक बनाने का आरोप: राम रहीम की मुश्किलें यहीं खत्म नहीं होती। डेरा प्रमुख पर 400 साधुओं को नपुंसक बनाने का भी आरोप लगा है। यह मामला पंजाब-हरियाणा कोर्ट में चल रहा है। बता दें कि फ़तेहाबाद ज़िले के निवासी हंसराज चौहान(जोकि खुद पहले डेरा साधू थे) ने उच्च न्यायालय में जुलाई 2012 में एक याचिका दायर कर आरोप लगाया था कि, डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम ने 400 साधुओं को नपुंसक बनाया है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट