ममता बनर्जी के घर के बाहर प्रदर्शन, भाजपा सांसद पर दर्ज हुआ केस, बोले- सीएम के आगे राज्यपाल भी मजबूर

ममता बनर्जी के घर के बाहर शव रखकर प्रदर्शन करने के आरोप में बंगाल पुलिस ने भाजपा सांसद अर्जुन सिंह, राज्य इकाई के अध्यक्ष सुकांत मजूमदार, ज्योतिर्मय सिंह महतो और प्रियंका टिबरेवाल समेत कई नेताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

arjun singh file photo
ममता बनर्जी के घर के बाहर प्रदर्शन, भाजपा सांसद पर दर्ज हुआ केस, बोले-सीएम के आगे राज्यपाल भी मजबूर (फाइल फोटो )

ममता बनर्जी के घर के बाहर शव रखकर प्रदर्शन करने के मामले में शुक्रवार को भाजपा नेताओं सुकांत मजूमदार, सासंद अर्जुन सिंह, ज्योतिर्मय सिंह महतो और प्रियंका टिबरेवाल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। इन नेताओं और इनके सहयोगियों पर कालीघाट पुलिस स्‍टेशन में प्रकरण दर्ज किया गया है।

यह था मामला
पश्चिम बंगाल भाजपा के मुख्य प्रवक्ता सामिक भट्टाचार्य ने बताया कि उनकी पार्टी के नेता मानस साहा ने इसी साल संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में माराघाट वेस्ट विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था लेकिन हार गये थे। 2 मई को चुनाव के नतीजे आने के बाद टीएमसी कार्यकर्ताओं ने उन्हें प्रताड़ित किया था, जिसके बाद से वो बीमार थे। इसी सप्ताह बुधवार को उनकी मौत हो गई। केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भी मानस साहा की मौत की जांच की मांग की है।

यह थे प्रदर्शन में शामिल
भाजपा नेताओं का आरोप था कि मई के महीने में तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने पीटा था और इस दौरान उन्हें गहरी चोट लगी थी, जिसके बाद अब उनकी मौत हो गई है। प्रदर्शनकारी भाजपा नेता, टीएमसी कार्यकर्ताओं पर हत्या का आरोप लगा रहे थे।

यह भी पढ़ें: जानवरों की होगी गिनती लेकिन SC – ST की जनगणना नहीं करेगी सरकार- बोले लालू प्रसाद यादव, पूछा – BJP और RSS को अति पिछड़ों से नफ़रत क्यों?

सांसद ने कहा- झूठ बोलती हैं ममता बनर्जी
सांसद अर्जुन सिंह ने कहा कि अत्‍याचारी सरकार का शासन चल रहा है। उन्‍होंने कहा कि राज्‍यपाल भी ममता बनर्जी के आगे मजबूर हैं, वे भी दबाव में आकर काम कर रहे हैं।

सांसद के घर के बाहर फेंका गया था बम
बता दें कि 14 सितंबर को बीजेपी सांसद ने घटना का सीसीटीवी फुटेज शेयर करते हुए एक ट्वीट में कहा था कि उनके घर के बाहर घर के बाहर बम फेंका गया था। उन्‍होंने आरोप लगाया था कि ममता के राज में अपराधी निडर हो गए हैं और उनको टीएमसी व पश्चिम बंगाल पुलिस का संरक्षण प्राप्त है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट