ताज़ा खबर
 

100 करोड़ के बंगले में नीरव मोदी देता था आलीशान पार्टियां, अवैध निकला, अब ढहेगा

रायगढ़ के कलेक्टर विजय सूर्यवंशी ने कहा, "बंगला सीज कर दिया गया है। हमने इसे ढहाने का काम भी शुरू कर दिया है। पूरे ढांचे को गिराने में लगभग हफ्ता भर लगेगा।"

(फोटोः NIRAVMODIjewels/फेसबुक)

गार्गी वर्मा।

साढ़े 13 हजार करोड़ रुपए के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले के फरार आरोपी और हीरा कारोबारी नीरव मोदी को लेकर नया खुलासा हुआ है। वह जिस 100 करोड़ रुपए के बंगले में आलीशान पार्टियां देता था, वह अवैध निकला है। शुक्रवार (25 जनवरी, 2019) को अधिकारियों ने बताया कि महाराष्ट्र में रायगढ़ स्थित उनके अलीबाग वाले बंगले को ढहाने का काम शुरू कर दिया गया। इस सी-फेसिंग बंगले पर अलीबाग एसडीओ के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट का दस्ता पहुंचा था, जहां शाम चार बजे तक काम जारी रहा। यह काम हफ्ते भर तक चलेगा।

आधिकारिक रिकॉर्ड्स के मुताबिक, यह आलीशान बंगला 33 हजार स्कायर फुट में फैला है, जबकि असल में इसने 70 हजार स्कायर फुट की जगह घेर रखी है। 2009-10 के आसपास इसका निर्माण कराया गया था, जहां पीएनबी घोटाले का आरोपी दोस्तों और परिजन को शानदार पार्टियां देता था।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इस बंगले की कीमत 42 करोड़ आंकी थी। हालांकि, मौजूदा समय में इसके 100 करोड़ रुपए से ऊपर होने की संभावना जताई गई है। वहीं, चार दिसंबर 2018 को इसे कलेक्टर ने अवैध करार दे दिया था। अलीबाग पुलिस की मानें तो गुरुवार (24 जनवरी, 2019) रात कलेक्टर के दफ्तर को इस बंगले पर कार्रवाई करने का अधिकार मिल गया था।

 Nirav Modi, Diamond Trader, PNB Scam, Bungalow, Alibaug, Rs 100 Crore, Raze, Illegal, Infamous, Party, State News, National News, Hindi News, नीरव मोदी, आरोपी, फरार, हीरा कारोबारी, पीएनबी घोटाला, बंगला, अलीबाग, ढहा, निगम, बुल्डोजर, अवैध, पार्टी, स्विमिंग पूल, तहखाने, महाराष्ट्र समाचार, राष्ट्रीय समाचार, हिंदी समाचार अलीबाग में शुक्रवार (25 जनवरी) को रायगढ़ कलेक्ट्रेट की तरफ से नीरव मोदी का यह बंगला ध्वस्त करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई। (पीटीआई फोटो)

रायगढ़ के कलेक्टर विजय सूर्यवंशी ने कहा, “बंगला सीज कर दिया गया है। हमने इसे ढहाने का काम भी शुरू कर दिया है। पूरे ढांचे को गिराने में लगभग हफ्ता भर लगेगा।” सूत्रों ने बताया कि बंगले में अंडरग्राउंड तहखाने और कई स्विमिंग पूल भी है, जिन्हें बनाने के लिए विदेश से सामग्री मंगाई गई थी। बकौल अधिकारी, “बंगले में इंडोनेशिया और बाली से कई चीजें मंगाकर लगवाई गईं। यह काफी महंगा बंगला है।”

उधर, गैर-सरकारी संस्था शंभुराजे युवा क्रांति में महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष सुरेंद्र धावले ने आईएएनएस से कहा, “इस संपत्ति की रकम 13 करोड़ आंकी गई है, पर मौजूदा समय में इसकी कीमत 100 करोड़ रुपए से ऊपर है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App